Tuesday, January 22, 2019 01:25 AM

प्रदर्शनकारियों ने पूर्वी रेलवे का सियालदह मुख्य मार्ग जाम किया  

कोलकाता (उत्तम हिन्दू न्यूज): रेलगाड़ियों की लेट-लतीफी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों के एक समूह ने सोदेपुर स्टेशन पर पूरे तीन घंटे रेलगाड़ियों की आवाजाही बाधित कर दी, जिससे शनिवार को सियालदह मुख्य रेलमार्ग पर रेल सेवा बाधित रही। पूर्वी रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी रवि महापात्रा ने कहा, हमने विकास कार्यो के लिए अधिसूचना जारी की थी, जिससे दैनिक यात्रियों को लाभ होगा। लेकिन इस तरह का व्यवधान बिल्कुल अस्वीकार्य है। 

अधिसूचना में कहा गया था कि बैरकपुर और इच्छापुर के बीच स्वचालित सिग्नल प्रणाली को शुरू करने के लिए जारी नॉन-इंटरलॉकिंग कार्य के कारण रेलगाड़ियां विलंब से चल रही हैं। कार्य सात सितंबर को शुरू हुआ था और यह 10 सितंबर को समाप्त हो जाएगा।

महापात्रा ने आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने स्टेशन मास्टर के कार्यालय पर पथराव किया और कार्यालय के फर्नीचर को क्षतिग्रस्त किया। व्यस्त समय के दौरान व्यवधान के परिणामस्वरूप सैकड़ों की संख्या में यात्री फंस गए, क्योंकि अप लाइन पर तीन ईएमयू और डॉउन लाइन पर 15 ईएमयू का परिचालन बाधित हो गया था। सोदेपुर स्टेशन पर सुबह लगभग 9.30 बजे शुरू हुआ प्रदर्शन अपराह्न् 12.30 बजे समाप्त हो जाने के बाद सियालदह राणाघाट खंड पर सामान्य रेल सेवा बहाल हो गई।

विरोध प्रदर्शन के कारण तीन अप और डाउन गाड़ियां रास्ते में लगभग ढाई घंटे तक फंसी रह गईं, और 20 ईएमयू लोकल को रद्द करना पड़ा। महापात्रा ने बयान में कहा, यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदर्शनकारियों ने ड्यूटी पर मौजूद स्टेशन अधीक्षक पर हमला किया और उनके केबिन में तोड़-फोड़ की। महापात्रा ने कहा, एक एक्सप्रेस और तीन पैसेंजर रेलगाड़ियां भी दो घंटे तक फंसी रह गईं। 

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400043000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।