धर्मपुर में कूड़े के ढेर से मतपत्र मिलने पर सूबे की सियासत गरमाई, चुनाव आयोग से शिकायत करेगी कांग्रेस

शिमला (ऊषा शर्मा): सोलन जिला के धर्मपुर विकास खंड में जिला परिषद चुनाव में मतदान किए 25 मतपत्रों के कूड़े के खुले ढेर में मिलने पर सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने इस घटना पर हैरानी जताते हुए सरकार पर पंचायत चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। पार्टी ने इस मामले को दिल्ली में मुख्य चुनाव आयोग के समक्ष उठाने और भाजपा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने रविवार को कहा कि यह मामला बहुत ही संगीन और गम्भीर है जिसे हल्के में कदापि नहीं लिया जा सकता। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या की है। इस घटना से संवेधानिक संस्थाओं की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़े हो गए हैं। राठौर ने कहा कि एक जगह पर मोहर लगे मतपत्रों का खुले में मिलना साफ इंगित करता है कि प्रदेश में इन चुनावों में बहुत बड़ी धोखाधड़ी व गड़बडिय़ां हुई हंै।

अब इसके बाद इन चुनाव परिणामों की निष्पक्षता पर बहुत बड़े सवाल खड़े हो गये है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस पूरे मसले को लेकर भारत के मुख्य चुनाव आयोग के समक्ष जाएगी और सरकार की इस कारगुजारी के खिलाफ अपना रोष प्रकट करते हुए भाजपा के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की मांग करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र बचाने के लिए एक बड़ा आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि नगर निकाय व पंचायती राज संस्थाओ के चुनावों बीडीसी व जिला परिषद में भाजपा को मुंह की खानी पड़ी है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रदेश के मुख्यमंत्री, उनके प्रदेशाध्यक्ष अपने अपने घरों में हारने के बावजूद उनके अधिकृत प्रत्यशियों को हरा कर जो लोग आए है उन्हें भाजपा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पद पर बिठा रही है।