दोस्तों को दगा देकर पहुंचाया जेल, पुलिस ने तीन चोरों को किया गिरफ्तार

भिवानी (धामु) - एक बदमाश ने अपने ही दोस्तों को दगा देते हुए उन्हे मौज मस्ती के सपने दिखाकर जेल भिजवा दिया। सालों से चोरी के अवैध धंधे में लिप्त इस दगाबाज दोस्त ने अपने दो दोस्तों के साथ चोरी की और पुलिस के हत्थे चढ गए। फिलहाल पुलिस ने इन तीनों चोरों से चोरी के 43 हजार रुपये, मॉबील व एक ऑॅटो बरामद कर जेल भेज दिया है। एंटी व्हीकल थैफ्ट पुलिस टिम के हत्थे चढ़े आरोपी गांव दिनोद निवासी आशीश उर्फ केडी, संदीप उर्फ घसंडी व दीपक हैं।

बताया गया है कि आशीश पिछले कई सालों से चोरी के अवैध धंधे में लिप्त है। वो ना केवल भिवानी बल्कि आसपास के क्षेत्रों से बाइक चोरी, स्कूटी चोरी व घरों में चोरी का आरोपी है। जेल से छुटकर आशीश ने अपने दो दोस्तों को निशाना बनाया और उनसे दोस्ती के नाम पर दगा देते हुए चोरी के धंधे में शामिल कर जेल भिजवा दिया है। एंटी व्हीकल थैफ्ट टिम इंचार्ज एएसआई कृष्ण मलिक ने बताया कि एएसआई सुभाष मोर को सूचना मिली थी कि कुछ युवक चोरी का सामान बेचने की फिराक में है। 

उन्होने बताया कि सूचना के आधार पर नागरिक अस्पताल के पास जब इन तीन युवकों को काबू कर पूछताछ की तो इन्होने इसी साल 10 जनवरी को बस स्टैंड के पास रोहतक रोड़ पर न्यू डिफेंस कॉलोनी में मीनाक्षी नामक एक महिला के घर से मॉबिल व 20 हजार रुपये नगदी चोरी की वारदात कबूल की। एएसआई कृष्ण मलिक ने बताया कि आरोपी आषिश से मॉबील की एक पेटी, 14 हजार रुपये नगद व एक पानी की मोटर, संदीप से मॉबील की दो पेटी व 17 हजार रुपये नगद तथा आरोपी दीपक से मॉबील की एक पेटी व 12 हजार रुपये नगद बरामद किए हैं।

बताया गया है कि आशीश चोरी का आदि है और कई बार पुलिस गिरफ्त में आकर जेल जा चुका है। इस बार जेल से बाहर आकर उसने अपने ही गांव के अपने दोस्त संदीप व दीपक को जाल में फंसाया और उन्हे अच्छे कपङे, महंगे मोबाईल रखने तथा महंगी शराब पीकर मौज मस्ती के सपने दिखाए। दोनों दोस्त आशीश के झांसे में आ गए और उसके साथ चोरी करने के लिए राजी हो गए। आशीश ने अपने दोस्त संदीप, जो ऑॅटो चलाता है, उसका ऑॅटो लेकर इस चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।