बंगाल के हालात कश्मीर से भी बदतर : पीएम मोदी

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल में पार्टी की जीत को सुनिश्चित करने के तहत आज यहां दो-दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे। इन रैलियों से पहले एक निजी चैनल को दिए साक्षात्कार के दौरान मोदी ने बंगाल के हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी पर निशाना साधा। मोदी ने ममता बनर्जी सरकार पर सवाल उठाते हुए पश्चिम बंगाल की स्थिति को कश्मीर से भी बदतर बताया। पीएम मोदी ने कहा, कश्मीर हिंसा और आतंकवाद के लिए जाना जाता है। कश्मीर में पंचायत के चुनाव हुए। एक भी पोलिंग बूथ पर हिंसा की एक भी घटना नहीं हुई। उसी समय पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव हुए। सैकड़ों लोग मारे गए, जो जीतकर आए उनके घर जला दिए गए। जो जीतकर आए उन्हें झारखंड और पड़ोसी राज्यों में मुंह छिपाकर रहना पड़ा। उनका गुनाह था कि वे जीत कर आए। उस समय लोकतंत्र की बात करने वाले और खुद को न्यूट्रल कहने वाले चुप रहे। इससे उनको बल मिलता गया।


आज मोदी यहां बशीरहाट और डायमंड हार्बर लोकसभा सीट के लिए चुनाव प्रचार करेंगे तथा रैलियों को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री बशीरहाट लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार सयानतन बासु के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। तृणमूल कांग्रेस ने नुसरत जहां, कांग्रेस ने काजी अब्दुर रहमान और वाम दल ने पल्लव सेनगुप्ता को यहां से उम्मीदवार बनाया है। बाद में मोदी डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार नीलांजन राय के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे।। यहां से सुश्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी मौजूदा सांसद हैं और दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं , जबकि कांग्रेस की ओर से सौम्या अईच राय तथा माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की तरफ से फौद हालिम चुनाव मैदान में हैं।


उधर, कोलकाता में अपने रोड शो के दौरान समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने के मामले में बुधवार को तृणमूल कांग्रेस के गुंडों को जिम्मेदार ठहराया। शाह ने भाजपा मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, देशभर में छह चरणों में चुनाव संपन्न हो चुका है लेकिन हिंसा की घटनाएं सिर्फ पश्चिम बंगाल में हो रही हैं। उन्होंने कहा, (मुख्यमंत्री) ममता बनर्जी भाजपा पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगा रही हैं। वह केवल 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, लेकिन भाजपा पूरे देश में चुनाव लड़ रही है। बंगाल को छोड़कर और कहीं भी हिंसा की घटना होने की खबर नहीं है। इसका मतलब कि तृणमूल हिंसा के लिए जिम्मेदार है। शाह ने कहा कि उनके रोड शो के दौरान तीन हमले हुए लेकिन राज्य पुलिस महज मूक दर्शक बनी रही।