पंडित सुखराम के दामाद जेएन गौड़ ने थामा भाजपा का दामन

मंडी (पुंछी) - पंडित सुखराम के परिवार में मची राजनीतिक उथल-पुथल इन लोकसभा चुनाव की सुर्खियां बनी हुई है। पंडित सुखराम ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अपने पोते आश्रय शर्मा के साथ बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में एंट्री मार ली। यही नहीं पंडित सुखराम पोते आश्रय के लिए कांग्रेस का टिकट भी ले आए। बेटे अनिल शर्मा बीजेपी में ही डटे हुए हैं, ये अलग बात है कि प्रचार के लिए बाहर नहीं निकल रहे।

अनिल ना ही बेटे आश्रय ना ही बीजेपी के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं। अब ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के तहत पंडित सुखराम के रिश्तेदारी में लगते दामाद जेएन गौड़ ने बीजेपी में एंट्री मार ली है। गौड़ ने रविवार को अपने पूरे परिवार सहित मंडी में सीएम जयराम ठाकुर व पार्टी के मंडी संसदीय क्षेत्र से प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा की मौजूदगी में बीजेपी में एंट्री मारी। गौड़ कांग्रेस के करीबी बताए जाते थे, लेकिन लोकसभा चुनाव के बीच में ही उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया है।

अब पंडित सुखराम की स्थिति ये है कि वह और उनका पोता आश्रय शर्मा कांग्रेस में हैं। आश्रय कांग्रेस टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। जबकि पंडित सुखराम के पुत्र अनिल शर्मा बीजेपी के विधायक हैं, वह जयराम सरकार में मंत्री भी थे पर उन्होंने भारी दबाव के बीच कुछ रोज पहले कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है। अब पंडित सुखराम के दामाद भी बीजेपी में चले गए,यानी परिवार की राजनीतिक स्थिति अलग-अलग दिशाओं में चल रही है। यानी ससुर बीजेपी से कांग्रेस में तो दामाद कांग्रेस से बीजेपी में। बीजेपी ने सुखराम को झटका देने के लिए ही गौड़ को अपने साथ जोड़ा है।