महामारी ने हमें आत्मनिरीक्षण के लिए मजबूर किया : स्मृति ईरानी

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आज कहा कि कोरोना महामारी ने हमें आत्मनिरीक्षण करने बीमारी के प्रतिरोध व इम्युनिटी बढ़ाने के लिए प्राचीन सांस्कृतिक तरीकों के बारे में सोचने पर मजबूर किया है। ईरानी पंजाब यूनिवर्सिटी की तरफ से आयोजित ‘सशक्त महिलाएं आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाती हैं‘ विषय पर वेबिनार में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का विचार सशक्तीकृत महिलाओं के बना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री की जन धन योजना ने महिलाओं के सशक्तीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है क्योंकि नये खुले 38 करोड़ खाताें में से 20 करोड़ खाते महिलाओं के नाम हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मुद्रा योजना की भी 75 फीसदी लाभार्थी महिलाएं ही हैं। उन्होंने लड़कियों के प्रौद्योगिकी, विज्ञान, गणित और अनुसंधान के क्षेत्रों में जाने की वकालत करते हुए कहा कि प्रौद्योेगिकी की हर किसीको सांस्कृतिक रूप से करीब लाने में महत्वपूर्ण भूमिका है।

वेबिनार में लोकगायिका मालिनी अवस्थी, गैर सरकारी संगठन ग्रामश्री की संस्थापक व सामाजिक कार्यकर्ता अनार पटेल ने भी हिस्सा लिया। वेबिनार का संचालन इतिहास विभाग की प्रमुख व प्रोफेसर डॉ़ अंजू सूरी ने किया।