पाकिस्तान का लक्ष्य भारत के साथ खेले बिना आत्मनिर्भर बनना : पीसीबी सीईओ

लाहौर (उत्तम हिन्दू न्यूज): पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वसीम खान ने कहा है कि पाकिस्तान क्रिकेट को इस बात की चिंता नहीं है कि वह भारत के साथ कब खेलेगा बल्कि इसके अलावा उसके पास ध्यान देने के लिए काफी सारी चीजें हैं। खान ने पाकपैशन डॉट नेट से कहा, पाकिस्तान क्रिकेट के प्रशंसकों को मेरा संदेश है कि हमने अभी तक काफी कुछ हासिल किया है और इसमें काफी मेहनत लगी है, लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट को भारत के साथ दिवपक्षीय सीरीज खेलने की चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि उसके पास इसके अलावा करने के लिए काफी कुछ है।

उन्होंने कहा, बीसीसीआई के पाकिस्तान के साथ खेलने से पहले भारतीय सरकार की मंजूरी की जरूरत होती है और यह सच है। इसिलए इस आधार पर और इस समय जो लोग सत्ता में आसीन हैं, उनका जिंदगी जीने का तरीका, कुछ मामलों पर उनके विचार, जिसमें पाकिस्तान भी शामिल है, उसे देखते हुए इसकी संभावना बहुत कम है कि वह निकट भविष्य में भारत के साथ खेलें।

खान ने कहा कि पीसीबी भारत के साथ खेले बिना अपने आप को सक्षम बनाने की तरफ ध्यान दे रही है और इस ओर पीटीवी के साथ किया गया करार काफी अहम रहेगा। खान ने कहा, हमने पीटीवी और केवल ऑपरेटर्स के साथ करार किया है जिससे हम अगले तीन साल में 200 मिलियन डालर की आय पाएंगे और यह हमारे लिए जरूरी है कि एक बोर्ड के तौर पर हम आत्म निर्भर बनें और यह ऐसी चीज है जिस पर हम काम कर रहे हैं ताकि पीसीबी इस स्थिति में रहे, वह सही जगह निवेश कर सके। उन्होंने कहा, हम भारत के साथ आईसीसी टूर्नामेंट्स में खेलना जारी रखेंगे, लेकिन दिवपक्षीय सीरीज की मुझे नहीं लगता कि यह जल्दी हो पाएगी।