पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर नाराजगी, देशभर में ट्रकों की चाबियां कलेक्टरों को सौंपेंगे ट्रक मालिक व चालक 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): देश में बढ़ रही पेट्रोल-़डीजल की कीमतों को लेकर ट्रक मालिक-चालक इस समय भारी आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की बढ़ती कीमतों से आशंका है कि यह आंकड़ा 100 रुपये प्रति लीटर के पार भी जा सकता है। इससे नाराज ट्रक मालिकों ने सरकार को चेतावनी दी है कि वह पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर अंकुश लगाएं, अन्यथा 15 दिन बाद सभी ट्रक मालिक तेल की बढ़ती कीमतों के विरोध में अपने वाहनों की चाबियां जिला कलेक्टरों को सौंप देंगे। 

Image result for trucks in india

इसके बाद 3700 संगठन सरकार को पत्र लिखेंगे। ट्रक चालकों के संगठन सरकार से मांग करेंगे कि उनका माल भाड़ा भी ऑटो-टैक्सी की तरह प्रति किलोमीटर की दर से तय किया जाए। यह किराया तेल कीमतों से लिंक होना चाहिए। तेल कीमतों में बढ़ोतरी के साथ इसमें भी बढ़ोतरी की जानी चाहिए। इससे देश के करोड़ों ट्रक मालिकों-चालकों को तेल की बेलगाम तरीके से बढ़ती कीमतों की मार से बचाया जा सकेगा। 

Image result for trucks in india

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के प्रवक्ता राजेंद्र कपूर ने कहा कि संस्था की शनिवार को हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि सभी संगठन पहले केंद्र सरकार को पत्र लिखकर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी पर काबू पाने की अपील करेंगे। अगर सरकार 14 दिनों में यह मांग पूरी नहीं करती है तो वे चक्का जाम की बजाय कामबंदी करेंगे। एक निश्चित दिन पर वे अपने-अपने वाहनों की चाबियां क्षेत्र के जिलाधिकारी को सौंपकर अपना विरोध जताएंगे।