सरकार के मुख मोडऩे से आहत दिखे अन्तर्राष्ट्रीय लिट्फेस्ट के आयोजक

11:11 AM Oct 13, 2019 |

कसौली (कौशल) - अन्तराष्ट्रीय स्तर का तीन दिवसीय लिट्फेस्ट कसौली में आयोजित किया जा रहा है। यह आयोजन अब सुप्रसिद्ध लेखक स्वर्गीय खुशवंत सिंह की याद में आयोजित किया जाता है। कसौली में आयोजित होने वाले इस लिट्फेस्ट में देश विदेश के हाई प्रोफईल्ड लेखक और सेलेब्रेटी शामिल होते है और मिलकर वर्तमान ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा करते हैं। इस बार भी फिल्म जगत से शर्मीला टैगोर इस कार्यक्रम में चार चांद लगा रही है। यह आयोजन 2012 से आयोजित किया जा रहा है और इस आयोजन को करने के लिए पिछले तीन वर्षों से प्रदेश सरकार पांच लाख ररुपए की सहयोग राशि देती थी लेकिन इस बार न जाने क्यों प्रदेश सरकार ने अपने हाथ पीछे खींच लिए है। यही कारण है कि लिट्फेस्ट के आयोजक इस बार काफी निराश दिख रहे हैं।

रोष व्यक्त करते हुए खुशवंत सिंह के बेटे राहुल सिंह बोस ने बताया कि उनके आयोजन पर करीबन 30 लाख रुपए खर्च होते है जिसमें से प्रदेश सरकार पिछले तीन वर्षों से पांच लाख रुपए का सहयोग देती थी लेकिन इस बार अभी तक उनकी तरफ से कोई सहयोग राशि जारी नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि  लिट्फेस्ट में ज्यादातर विदेशी लेखकों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से उनका खर्चा भी लगातार बढ़ रहा है इस लिए सरकार को चाहिए कि वह सहयोग राशि जारी करें।