Saturday, November 17, 2018 04:46 PM

विपक्ष के पास न नेता, न नीति, न रणनीति, भाजपा को मिलेगी जबरदस्त जीत

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 2019 में भाजपा जबरदस्त जीत हासिल करने और 2022 में नये भारत के निर्माण का विश्वास व्यक्त किया। पार्टी ने कहा कि भाजपा के पास कार्यक्रम है, नेता है, नीति है और रणनीति भी है लेकिन विपक्ष के पास कुछ भी नहीं है और वह ‘मोदी हटाअो’ की नकारात्मक राजनीति कर रहा है जिसे जनता स्वीकार नहीं करेगी।

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश करते अपने संबोधन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता ‘आओ मिल कर दीप जलाएं’ की तर्ज पर पार्टी कार्यकर्ताओं काे नया नारा दिया, आओ मिल कर कमल खिलाएं। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में राजनीतिक प्रस्ताव की विषयवस्तु की जानकारी दी।

सिंह ने कहा कि 2019 में भाजपा जबरदस्त जीत हासिल करने जा रही है। भाजपा के पास कार्यक्रम है, नेता है, नीति है और रणनीति भी है लेकिन विपक्ष के पास ना नेता है, ना नीति है और ना ही रणनीति है। वह हताश है और नकारात्मक सोच के कारण विकल्प ढूंढ़ने में लगा है। विपक्ष केवल ‘मोदी रोको अभियान’ चला रहा है जिसमें उसे जनता का साथ नहीं मिलेगा। आम लोग सशक्त हुए हैं अौर वे देश की तरक्की को इसी गति से जारी रखने के पक्ष में हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की जोड़ी के परिश्रम भाजपा की गतिविधियां तेजी से बढ़ी हैं और वह छह राज्यों से बढ़कर 19 राज्यों में सत्ता में आ गयी है। यह लक्ष्य जनता से सीधे संवाद से पूरा हुआ है।

सिंह ने प्रस्ताव में कहा कि सरकार की विकास योजनाओं की बदौलत वर्ष 2022 तक नये भारत के निर्माण का सपना पूरा होगा। वर्ष 2022 देश गरीबी, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, जातिवाद और संप्रदायवाद से मुक्त हो जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की दृष्टि, लगन और परिकल्पना की बदौलत सबका साथ सबका विकास से नये भारत का सपना पूरा हो सकेगा। 

उन्होंने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के समय की तुलना में मोदी सरकार के कार्यकाल में आंतरिक सुरक्षा की स्थिति में बड़ा बदलाव आया है। संप्रग के शासन के दौरान शहरों में बम विस्फोट की घटनाएं होतीं थीं लेकिन अब ऐसा नहीं हो रहा है। बड़ी आतंकवादी घटनाएं नहीं हुईं हैं और पहले की तुलना में नक्सली उग्रवादी एक तिहाई रह गये हैं। कश्मीर में आतंकवाद की घटनाएं हताशा में हो रहीं हैं। पूर्वोत्तर क्षेत्र के राज्यों में शांति आयी है और लोग विकास की मुख्य धारा में शामिल हो गये हैं। त्रिपुरा, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के एक भाग से सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (आफ्स्पा) को हटा दिया गया है। असम में भी जल्द ही कुछ होगा। नागा समझौते से वहां शांति कायम हुई है।

उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में आयी तेजी के कारण अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ है और भारत दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। सेवा एवं वस्तुकर कानून से कर प्रणाली में बड़ा सुधार हुआ है। इसके साथ ही नयी जनधन योजना से अब गरीबों को और अधिक फायदा होगा तथा परिवार के सभी वयस्को के नाम बैंक खाते खुलेंगे।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान के कारण देश के 19 राज्य, 400 जिले और चार लाख गांव खुले में शौच की समस्या से मुक्त हो गये हैं और सड़कों के निर्माण में तीन गुना वृद्धि हुई है। देश के अलग अलग राज्यों में 20 अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान स्थापित किये जा रहे हैं। जबकि उज्ज़्वला योजना से पांच करोड़ परिवारों को फायदा हुआ है। बारह रुपए में जीवन बीमा की योजना की सफलता इस बात से पता चलती है कि 14 करोड़ लोगों ने उसे फिर से लिया है। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के साथ एक ही झटके में करीब डेढ़ लाख बैंक शाखाएं देश में खुल गयीं हैं।

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।