100 पूर्व नाैकरशाहों का खुला पत्र, पीएम-केयर्स फंड की पारदर्शिता पर उठाए सवाल

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज)- 100 पूर्व नौकरशाहों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुला पत्र भेजा है। इस पत्र में पीएम-केयर्स फंड में पारदर्शिता को लेकर सवाल उठाए गए हैं। इन पूर्व नाैकरशाहों का कहना है कि फंड के बारे में जानकारी सार्वजनिक की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि फंड को कितना पैसा कहां से प्राप्त हुआ और फंड ने वो पैसा कहां पर और कितना खर्च किया, इसका वित्तीय ब्योरा उपलब्ध कराना जरूरी है ताकि किसी तरह की अनियमितता के संदेह से बचा जा सके।

Which Apps To Help Through PM Cares Fund, Will Get Tax Benefits - किन एप्स  से कर सकते हैं पीएम केयर्स फंड में सहयोग, मिलेगा टैक्स में फायदा | Patrika  News

इस खुले पत्र में पूर्व अधिकारियों ने लिखा है कि हम पीएम-केयर्स या इमरजेंसी हालत में नागरिक सहायता और राहत के बारे में जारी बहस पर करीब से नजर रख रहे हैं। यह फंड कोविड महामारी से प्रभावित लोगों के फायदे के लिए बनाया गया था। जिस उद्देश्य से यह फंड बनाया गया और जिस तरह से इसे चलाया गया है, दोनों को लेकर कई सवाल के जवाब मिलना बाकी है। पत्र पर पूर्व आईएएस अधिकारियों अनिता अग्निहोत्री, एस पी अंब्रोसे, शरद बेहार, सज्जाद हासन, हर्ष मंदर, पी जॉय ओमेन, अरुणा रॉय, पूर्व राजनयिकों मधु भादुड़ी, के पी फाबियान, देब मुखर्जी, सुजाता सिंह और पूर्व आईपीएस अधिकारियों ए एस दुलात, पी जी जे नंबूदरी तथा जूलिया रीबीरो आदि के हस्ताक्षर हैं।

Narendra Modi's move to stem Indian rupee's slide may not help — Quartz  India