10 रुपए में खोलें पोस्ट ऑफिस का ये खास अकाउंट, बचत खाते से ज्यादा मिलेगा ब्याज

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) - क्या आप जानते हैं कि बैंकों के साथ-साथ पोस्ट ऑफिस में भी रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट खोला जा सकता है। आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस में अकाउंट खुलवाकर आपको काफी फायदा होगा। पोस्ट ऑफिस में अकाउंट खलवाने पर आप अपनी बचत पर ज्यादा ब्याज (मुनाफा) पा सकते है। पोस्ट ऑफिस में इन्वेस्टमेंट स्कीम काफी फायदेमंद है। इस स्कीम को फायदेमंद इसलिए भी माना जाता है, क्योंकि पोस्ट ऑफिस में इन्वेस्ट किए हुए पैसे की सुरक्षा की गारंटी सरकार लेती है। इस स्कीम का लाभ कम सैलरी वालों के साथ-साथ ज्यादा इनकम वालों को भी मिल सकता है। इस स्कीम की खास बात यह है कि आप सिर्फ 10 रुपये से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। आइए आपको बताते हैं इसके बारे में...

मिलेगा दोगुना मुनाफा
बहुत से लोग ऐसे हैं, जिनकी मंथली सेविंग्स अगर कम होती है तो वे उसे बैंक की सेविंग अकाउंट में रखकर यह सोचते हैं कि उनकी बचत बढ़ रही है। लेकिन बचत खाते में रखे पैसे पर अमूमन घाटा ही होता है। ज्यादातर बैंक सेविंग अकाउंट पर 3.5 से 4 फीसदी तक ही ब्याज देते हैं, जो महंगाई दर के मुकाबले कम होता है। वहीं, दूसरा रास्ता बैंक एफडी है, जहां ब्याज तो ज्यादा है, लेकिन पैसा लंबे समय के लिए लॉक हो जाता है। ऐसे में सेविंग अकाउंट से दोगुना रिटर्न पाने के लिए पोस्ट ऑफिस की स्माल सेविंग स्कीम रेकरिंग डिपॉजिट यानी आरडी बेहतर विकल्प है। पोस्ट ऑफिस की 1 साल से 5 साल की आरडी स्कीम पर 6.9 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है।

बचते खाते से कितना आएगा अंतर
सेविंग अकाउंट- अगर बैंक या पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट में हर माह 2 हजार रुपये जमा करते हैं, तो 5 साल में आपका कुल निवेश 1.20 लाख रुपये होगा. वहीं, सालाना 4 फीसदी मिलने वाले ब्याज के हिसाब से 5 साल में आपका पैसा 1,35,191 रुपये हो जाएगा, यानी आपको ब्याज 15191 रुपये मिले।

RD- अगर आरडी में हर महीने 2 हजार रुपये तक जमा करते हैं तो 5 साल में आपका कुल निवेश 1.20 लाख रुपये हो जाएगा। वहीं आपको पोस्ट ऑफिस आरडी पर क्वार्टली कंपाउंडिंग पर सालाना 6.9 फीसदी फीसदी ब्याज मिलता है। इस लिहाज से आपके पैसे 5 साल में करीब 1,44,305 रुपये हो जाएंगे। यानी आपको 24305 रुपये अतिरिक्त मिले।

कैसे खोले आरडी अकाउंट
आरडी अकाउंट पोस्ट ऑफिस, बैंक जाकर या ऑनलाइन भी खोला जा सकता है। आप मोबाइल ऐप से भी आरडी खुलवा सकते हैं। अगर आप पोस्ट ऑफिस में आरडी खुलवा रहे हैं तो कैश और चेक देकर खुलवा सकते हैं। आपका अकाउंट एक पोस्ट आफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस ट्रांसफर हो सकता है। दो एडल्ट के नाम से ज्वॉइंट अकाउंट भी खुल सकता है। आरडी अकाउंट खोलने के पहले देख लें कि कहां कितना ब्याज मिल रहा है। अगर आरडी पर 10 हजार से ज्यादा ब्याज मिलता है तो वह टैक्‍सेबल होगा।

यह हैं आरडी के फायदे-
1. रेकरिंग डिपॉजिट निवेशक की सेविंग पर निर्भर करता है और हर महीने एक तय राशि का निवेश इसमें कर सकते हैं।
2. आरडी के लॉक इन फीचर के तहत शुरुआत से आखिर तक ब्याज दर एक समान रहती है और डिपॉजिट पर इंटरेस्ट रेट शुरुआत में ही लॉक इन हो जाता है। यानी ब्याज दर कम होने पर आरडी में फायदा होता है।
3. रेकरिंग डिपॉजिट से सेविंग मैनेजमेंट आसान होता है और बार-बार फिक्स डिपॉजिट की परेशानी से राहत मिल जाती है।
4. आरडी में अकाउंट खोलते समय ही टाइम पीरियड तय हो जाता है। टाइम पीरियड खत्म होने पर आपको ब्याज समेत पूरा भुगतान मिल जाता है।
5. आरडी की खासियत है कि इसमें नियमित निवेश के साथ फिक्स डिपॉजिट के फायदे मिलते हैं। ब्याज तय होने से आय की निश्चितता रहती है और बैंकों की ओर से ऑफर मिलने से सहूलियत रहती है। आरडी में एक खास लक्ष्य के लिए रकम इकट्ठा की जा सकती है।
6. आरडी 10 साल तक हो सकती है। इसमें लंबे समय का इनवेस्टमेंट प्लान बनाया जा सकता है।