अमृतसर में कोरोना का कहर जारी, एक और मरीज ने तोड़ा दम-जालंधर में 1 और मरीज आया सामने 

अमृतसर (दीपक मेहरा)- एकतरफ जहां पंजाब में कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है वहीं अमृतसर में एक ही दिन में 2 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है। आज शाम अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में उपचाराधीन एक मरीज की मौत हो गई। मरीज के कोरोना पाजिटिव होने की पुष्टि पांच दिन पहले हुई थी। मृतक की आयु 60 साल थी और वह अमृतसर शहर का निवासी था। उधर, जालंधर में शाम को एक और मरीज की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। मरीज लाजपत नगर निवासी है और उसकी उम्र 55 साल बताई जा रही है। जालंधर में आज 4 पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या करीब सवा दो सौ हो गई है। 

इसी प्रकार अमृतसर में कोरोना से देर रात एक महिला की भी मौत हो गई। उक्त महिला भोपाल की रहने वाली बताई जा रही है जो यहां अपनी बहन के साथ स्थानीय गुजारपुरा में अपने रिश्तेदार के पास रहने आई थी। इस खबर की पुष्टि करते हुए संबंधित पुलिस चौके के इंस्पैक्टर विनोद कुमार ने बताया कि महिला की मौत होने के बाद इलाके को सील कर दिया गया है। वहीं मृतका की बहन भी कोरोना पॉजिटिव बताई जा रही है। पंजाब में कोरोना से मरने वाले मरीजों की संख्या 40 हो गई है।   उधर, फरीदकोट के बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के गोबिंद सिंह मेडिकल कालेज में कोरोना जांच के लिये देश की पहली अत्याधुनिक लैब शुरू की गई है। यहां पटियाला ,अमृतसर के मेडिकल कालेजों में भी मशीनें पहुंचीं हैं। 

उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश में कोरोना महामारी को हराने का रिकवरी रेट नब्बे फीसदी होने पर खुशी जाहिर करते हुये कहा है कि हमें इससे संतुष्ट होकर नहीं बैठना तथा घरेलू उड़ानों ,ट्रेनों तथा बसों से आने वाले हरेक व्यक्ति को लाजिमी तौर पर चौदह दिन का होम क्वारंटीन में जाना ही होगा । फेसबुक पर कैप्टन सिंह ने आज कहा कि प्रदेश में आने वालों की जांच होगी चाहे वो किसी मार्ग ,रेलवे स्टेशन या हवाई अड्डे से आए जिनमें भी कोरोना के लक्षण पाये गये तो उनको संस्थागत क्वारंटाइन में रखा जाएगा। उसके बाद उन्हें होम क्वारंटीन में रहना होगा ।