निर्भय मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण, 1,000 किलोमीटर तक साधा जा सकता है निशाना

भुवनेश्वर (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत ने सोमवार को ओडिशा तट से एक सब-सोनिक क्रूज मिसाइल निर्भय का सफल परीक्षण किया। जानकार सूत्रों ने बताया कि 1,000 किलोमीटर दूरी तक निशाना साधने में सक्षम मिसाइल को बालासोर जिले के चांदीपुर में इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) से लॉन्च पैड से छोटी दूरी के लिए दागा गया।

सूत्रों ने आगे बताया कि रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा स्वदेश में विकसित की गई निर्भय मिसाइल 300 किलोग्राम तक के वॉरहेड ले जा सकता है। यह एक टर्बोफैन या टबोर्जेट इंजन के साथ यात्रा कर सकता है और एक अत्यधिक उन्नत इर्नशियल नेविगेशन प्रणाली द्वारा निर्देशित है। डीआरडीओ ने बताया कि 'निर्भय' सभी मौसमों में मार कर सकता है। इसका टेकऑफ एक ठोस बूस्टर के जरिए होता है। इस बूस्टर के वजह से ही यह हवा में अपने निशाने को ढूंढ-ढूंढकर मारता है। 

डीआरडीओ के मुताबिक दुश्मर के राडार से छिपकर यह मिसाइल आसमान से काफी नीचे भी मार कर सकता है। इसमें अत्याधुनिक नेविगेशन सिस्टम भी लगाया गया है। जिससे दुश्मन तक आसानी से पहुंचा जा सके। यह मिसाइल ब्रम्होस से कई गुना ज्यादा ताकतवर है। ब्रम्होस 290 मीटर ही मार कर सकता है जबकि 'निर्भय' 1000 किलोमीटर तक अपने लक्ष्य को निशाना बना सकता है।


 
इससे पहले निर्भय सब सोनिक क्रूज मिसाइल का 5 बार परीक्षण किया जा चुका है, पहली बार मार्च 2013, दूसरी बार अक्तूबर 2014, तीसरी बार अक्तूबर 2016, चौथी बार दिसंबर 2016 और पांचवीं बार इस मिसाइल का नवंबर 2017 में परीक्षण किया गया है।

Related Stories: