कन्नड़ अभिनेता राजकुमार अपहरण मामले में नौ लोग बरी

चेन्नई (उत्तम हिन्दू न्यूज): तमिलनाडु के इरोड जिले के गोपीचेत्तीपलयम स्थित सत्र अदालत ने मंगलवार को वर्ष 2000 में प्रख्यात कन्नड़ अभिनेता राजकुमार के अपहरण मामले के सभी नौ आरोपियों को बरी कर दिया है। मशहूर कन्नड़ अभिनेता राजकुमार का अपहरण 30 जुलाई 2000 को चंदन तस्कर वीरप्पन और उसके गिरोह द्वारा उस वक्त किया गया था जब वह इरोड जिले के थल्लवाडी स्थित अपने फॉर्म हाउस में थे। वीरप्पन ने 108 दिनों तक राजकुमार को बंदी रखने के बाद अपनी कैद से रिहा किया था।

अभिनेता राजकुमार के अपहरण के 18 साल बाद तत्कालीन ग्रामीण प्रशासनिक अधिकारी ( वीएओ ) गोपालन की शिकायत के बाद मामला दर्ज किया गया था। इस मामले की सुनवाई करते हुए सत्र न्यायाधीश मनी ने पुलिस द्वारा साक्ष्य जुटा पाने में विफल होने के कारण सभी नौ लोगों को बरी करने का फैसला सुनाया। इस मामले में वीरप्पन समेत कुल 14 लोगों को आरोपी बनाया गया था। वीरप्पन समेत चार आरोपी वर्ष 2004 में विशेष जांच दल ( एसआईटी ) के साथ मुठभेड़ में मारे गये थे। इस मामले में एक अन्य आरोपी रमेश अभी भी फरार चल रहा है। पुलिस के अन्य नौ आरोपियों गोविंदराज, अंद्री, पसुवन्ना, पुट्टुस्वामी, कलमंदीरमन, मारन, सेलवम, अमीरथलींगम और नागराज के वीरप्पन से संबंध रखने के साक्ष्य नहीं जुटा पाने के कारण सत्र न्यायाधीश ने उन्हें बरी करने का आदेश दिया। इस मामले में सात साल पहले ही आरोप-पत्र दाखिल किया गया था और मामले की छानबीन के लिए 47 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

Related Stories: