फरीदकोट यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष के मर्डर में नया मोड़; गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने ली हत्या की जिम्मेदारी- Facebook पर लिखा- जीने नहीं दूंगा

फरीदकोट (उत्तम हिन्दू न्यूज): वीरवार को फरीदकोट में ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष व गोलेवाला जोन से जिला परिषद सदस्य गुरलाल सिंह पहलवान की हत्या मामले में अब नया मोड़ आ गया है। गुरलाल सिंह पहलवान की हत्या की जिम्मेदारी कभी फिल्म अभिनेता सलमान को धमकी देने वाले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने ली है और इसे चंडीगढ़ में कुछ समय पहले हुई सोपू नेता गुरलाल बराड़ की हत्या का बदला बताया है। जानकारी के अनुसार वीरवार देर रात जेल में गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई की फेसबुक आइडी से एक पोस्ट डालकर दावा किया गया है कि हत्या लारेंस बिश्नोई ने करवाई है। फिलहाल पुलिस ये जांच कर रही है कि यह आइडी किसकी है और इसे कहां से आपरेट किया गया है।  

कांग्रेस नेता पर गोली बरसाते बदमाश।

फरीदकोट में गुरुवार शाम करीब पांच बजे जुबली चौक पर बाइक सवार बदमाशों ने कांग्रेस नेता गुरलाल पहलवान पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर उसकी हत्या कर दी। घटना के बाद हमलावर बाइक पर बैठ कर फरार हो गए। घटना इमीग्रेशन सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। पुलिस ने फुटेज लेकर हमलावरों की पहचान की कोशिश शुरू कर दी है। उधर, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्विटर पर कहा कि वह गुरलाल की हत्या से स्तब्ध हैं। उन्होंने घटना की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

कांग्रेस नेता गुरलाल पहलवान की फाइल फोटो।

गुरलाल की हत्या के बाद लॉरेंस बिश्नोई के नाम से फेसबुक पर बने अकाउंट पर ताजा पोस्ट में लिखा गया कि ‘जब तक गुरलाल भाई का बदला पूरा नहीं हो जाता, तब तक न जीऊंगा और न जीने दूंगा।’ अकाउंट पर लिखा गया कि ‘हम फेसबुक पर डालकर कुछ साबित नहीं करना चाहते हैं, पर मुझे लगता है कि बेकसूर को पुलिस प्रशासन तंग न करे। फरीदकोट में गुरलाल पहलवान की हत्या हुई, उसकी जिम्मेदारी मैं बिश्नोई और गोल्डी बराड़ लेते हैं। 

लॉरेंस बिश्नोई (फाइल फोटो)

गुरलाल को कई बार समझाया गया, कि वह अपने काम से मतलब रखे, हमारी एंटी पार्टी के साथ मिलकर कोई भी काम हमारे विरुद्ध न करे लेकिन हर किसी को शब्दों में समझाया नहीं जा सकता, न ही मुझे ज्यादा बोलना आता है, इसलिए यह कदम उठाया है, हमारे भाई गुरलाल बराड़ का कोई लेना देना नहीं था, पर हवाबाजी के लिए उसकी हत्या की, आज भी सोचता हूं, गुरलाल बराड़ ने कभी किसी को कुछ नहीं कहा, जब तक गुरलाल भाई का बदला पूरा नहीं हो जाता, तब तक न जीऊंगा और न जीने दूंगा।’

10 अक्तूबर 2020 को सोपू नेता गुरलाल बराड़ औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक मॉल के बाहर अपनी गाड़ी में बैठकर दोस्तों के आने का इंतजार कर रहा था। इसी दौरान बाइक सवार दो युवकों ने उस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दीं। आरोपियों ने अपने चेहरे ढक रखे थे। गुरलाल के सिर में गोली लगने के कारण वह बुरी तरह से घायल हो गया। पुलिस और गुरलाल के दोस्तों ने उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मामले में औद्योगिक क्षेत्र थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या और आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। फेसबुक पोस्ट डालकर गैंगस्टर दविंदर बंबीहा ग्रुप ने गुरलाल हत्या की जिम्मेदारी ली थी।