Monday, November 19, 2018 04:45 AM

नई राष्ट्रीय ऑटो नीति जल्द : मंत्री

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारी उद्योग मंत्री अनंत गीते ने बुधवार को कहा कि एक नई राष्ट्रीय ऑटो नीति तैयार की जा रही है, जो वाहन उत्सर्जन पर जोर देने के साथ ही हरित गतिशीलता पर जोर देगी। ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्च र्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसीएमए) के वार्षिक सत्र के अपने उद्घाटन भाषण में गीते ने यहां कहा कि इसके अलावा निकट भविष्य में केंद्र के फास्टर अडॉप्शन एंड मैन्युफैक्च रिंग ऑफ इलेक्ट्रिक एंड हाइब्रिड व्हीकल (फेम) कार्यक्रम का दूसरा चरण शुरू किया जाएगा। कार्यक्रम का पहला चरण दिसंबर में समाप्त हो रहा है। 

गीते ने कहा, हम एक नई ऑटो नीति के साथ आ रहे हैं, जो पूरे उद्योग जगत की इच्छाओं को पूरा करेगी और उनके सुझावों पर विचार करेगी। मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, नई नीति की रूपरेखा तैयार करने के लिए पिछले छह महीनों से विभिन्न हितधारकों के साथ यहां चर्चा हो रही है। इस नई नीति में ऑटोमोबाइल उद्योग के लिए एक नोडल नियामक इकाई का विचार शामिल है।

गीते ने कहा, सरकार भविष्य में फेम 2 योजना के साथ भी आ रही है, क्योंकि फेम 1 योजना 31 दिसंबर को समाप्त होने जा रही है। उन्होंने कहा, मैं फिलहाल इस स्थिति में नहीं हूं कि फेम 2 के बारे में ज्यादा जानकारी दे पाऊं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस सप्ताह के अंत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी समित में इसके बारे में अधिक घोषणाएं करेंगे। 

वहीं सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शुरुआत में अपने संबोधन में कहा कि जैव ईंधन के इस्तेमाल के माध्यम से कच्चे तेल के आयात में कमी आएगी और ऑटोमोबाइल उद्योग द्वारा निर्यात में वृद्धि कर देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, हम वैकल्पिक ईंधन और इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के क्षेत्र में परमिट राज को कैसे कम किया जा सकता है, इस पर गंभीरता से सोच रहे हैं। 
 

WhatsApp पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर 7400063000 को अपने Mobile में Save करके इस नंबर पर Missed Call करें ।