हरियाणा सरकार की नई पहल, अब सरकारी स्कूलों के सुपर-100 बच्चें को मिलेगी बेहतरीन कोचिंग 

करनाल (आशुतोष गौतम, रजत शर्मा): हरियाणा सरकार शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर एक नई पहल की है। इसके तहत अब सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों के लिए सुपर-100 योजना के तहत प्राईवेट स्कूलों के बच्चों के साथ कंपीटिशन में तैयारी करने के लिए कोचिंग का प्रावधान किया गया है। सरकार ने वर्ष 2018 में रेवाड़ी व पंचकूला में दो सैंटर शुरू किए थे, जिनके बेहतरीन परिणामों को देखते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस वर्ष 2 और नए सैंटर करनाल व हिसार में खोलने का निर्णय लिया है। डीसी निशांत कुमार यादव ने बुधवार को डाईट शाहपुर करनाल में स्थापित कोचिंग सैंटर की क्लास का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया।

इसके अलावा इन बच्चों के ठहरने, खाने-पीने की व्यवस्था के लिए डाईट शाहपुर में ही बने छात्रावास का भी लोकार्पण किया। इस मौके पर डीसी ने उपस्थित बच्चों को संबोधित करते हुए सुपर-100 में सैलेक्ट बच्चों को शुभकामनाएं और बधाई दी और कहा कि आप सभी बहुत भाग्यशाली हैं जिन्हें सरकारी खर्चे पर कोचिंग निशुल्क मिलेगी। उन्होंने कहा कि आईआईटी एक ऐसा संस्थान है जहां पर बच्चे का स्र्वांगीण विकास होता है जो बच्चे डाईट शाहपुर कोचिंग सैंटर में अब पढ़ रहे हैं, इनमें से आईआईटी में दाखिले लेकर एक अच्छे इंजीनियर बनेंगे। इस मौके पर जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी ने डीसी का स्वागत किया और सुपर-100 योजना पर प्रकाश डालते हुए बताया कि डबल स्क्रीनिंग के बाद इन बच्चों का इस योजना में सैलेक्शन हुआ है। यह बहुत ही प्रतिभाशाली बच्चे हैं। उन्होंने चयनित बच्चों को शुभकामनाएं दी और उपायुक्त से समय-समय पर निरीक्षण करने बारे अनुरोध किया।

कार्यक्रम में डाईट शाहपुर के प्रिंसिपल रविन्द्र चौधरी ने बताया कि सुपर-100 योजना के तहत सरकारी स्कूलों के प्रतिभावान बच्चों को इंजीनियर व मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए कंपीटिशन की तैयारी करवाई जाएगी। इस योजना के तहत 11वीं व 12वीं के बच्चों को तैयार किया जाएगा। इस योजना के लागू होने से अब सरकारी स्कूल के जो बच्चे कोचिंग के अभाव में मेडिकल व इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला लेने से वंचित रह जाते थे, उन्हें लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष डाईट शाहपुर में स्थापित कोचिंग सैंटर में 11वीं कक्षा के करीब 43 बच्चों का चयन हुआ है, अगले वर्ष से 12वीं कक्षा के बच्चों को भी शामिल किया जाएगा।

डीसी ने सुपर-100 बच्चों को वितरित किए टैब
डीसी निशांत कुमार यादव ने डाईट शाहपुर के कोचिंग सैंटर में पढऩे वाले बच्चों को हरियाणा सरकार की ओर से सुपर-100 बच्चों को टैब वितरित किए ताकि ये बच्चे ऑनलाईन टैस्ट की तैयारी कर सकें और वीडियो कांफ्रैंसिंग से लैक्चर अटैंड कर सकें।  हरियाणा सरकार की सरकारी स्कूल के बच्चों को इंजीनियर और डॉक्टर बनाने की एक नई पहल है।