Navjot Singh Sidhu ने सिक्ख जगत से मांगी माफी, धार्मिक प्रतीक वाला शॉल लेने से आए थे विवादों में

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): कांग्रेसी विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने एक ओंकार और खंडे के निशान वाला शॉल अपने पर लेने के मामले में सिक्ख जगत से माफी मांगी है। 

सिद्धू ने इस संबंधी आज प्रातःकाल ट्वीट किया और लिखा कि श्री अकाल तख्त साहिब सर्वोच्च है। अगर मैंने अनजाने में एक भी सिख की भावनाओं को आहत किया है, तो मैं माफी मांगता हूं। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा, "लाखों लोग सिख धार्मिक प्रतीकों वाले पगड़ी, कपड़े पहनते हैं और यहां तक कि गर्व के साथ टैटू भी बनवाते हैं। मैंने भी सिख के तौर पर अनजाने में शॉल पहन लिया। 

बता दें कि, एक दिन पहले, श्री अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने पूर्व क्रिकेटर सिद्धू को 'शॉल ओढ़कर सिख धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने' पर माफी मांगने का निर्देश दिया था। कुछ सिख समूहों ने अकाल तख्त के समक्ष सिद्धू के पहनावे को लेकर विरोध जताया था।