नाव डुबने से हुई थी 100 से ज्यादा शरणार्थियों की मौत: एमएसएफ

त्रिपोली(उत्तम हिन्दू न्यूज)- सामाजिक कल्‍याण संस्था मेडिसिन सेन्स फ्रंटियर्स (एमएसएफ) ने सोमवार को कहा कि एक और दो सितंबर को लीबिया के तट पर शरणार्थियों की नाव डुबने से 100 से ज्यादा शरणार्थियों की मौत हुई थी। 

एमएसएफ ने नाव डुबने की घटना में किसी तरह अपनी जान बचा लेने वाले शरणार्थियों के हवाले से यह जानकारी दी। एमएसएफ ने अपनी वेबसाइट पर जारी बयान में कहा कि एक सितंबर को दो नावें लीबिया के तट से शरणार्थियों को लेकर रवाना हुई थी। दोनों नावों में ज्यादातर अफ्रीकी शरणार्थी सवार थे। एक शरणार्थी के अनुसार इनमें से एक नाव का इंजन खराब हो गया। इसके कुछ समय बाद दूसरी नाव भी हांफने लगी। कुछ शरणार्थियों ने नाव के अवशेषों से चिपककर अपनी जान बचायी। 

एक अन्य शरणार्थी ने बताया कि हवाई जहाज में आये यूरोपीय बचावकर्मियों ने शरणार्थियों के पास रबड़ की नौका फेंकी लेकिन शरणार्थियों को घंटों तक पानी में रहना पड़ा। एक शरणार्थी के अनुसार, “हमारी नाव पर केवल 55 शरणार्थी अपनी जान बचा सके। बहुत से शरणार्थी परिवार बच्चों सहित मारे गये। बचावकर्मी यदि जल्दी आते तो उन्हें बचाया जा सकता था।” 

Related Stories: