पंजाब सरकार बिजली बिलों को माफ कर लोगों को दे राहतः मोहिन्द्र भगत

जालंधर (सौरभ खन्ना)- प्रदेश भाजपा प्रवक्ता मोहिन्द्र भगत ने कोविड-19 के दौरान आम लोगों और उद्योगपतियों को बहुत सारी मुसिबतों का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना महामारी के बाद बिजली बोर्ड ने लोगों और उद्योगपितों की परेशानी बढ़ा दी हैं, क्योंकि बिजली के बिलों को बढ़ा कर भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में लगे लॉकडाउन और कर्फ्यू के कारण सभी लोगों के काम बंद थे। वर्तमान समय में भी काम में बहुत तेजी नहीं आई है। भगत ने कहा कि तमाम लोगों की आमदन का कोई भी साधन ना होने के कारण दो वक्त की रोटी भी जुटा पाना मुश्किल हो रहा हैं। ऐसे में बिजली बोर्ड द्वारा निरंतर बिजली के बिल भेजे जा रहे हैं। इन बिलों को चुका पाने में तमाम लोग बिल्कुल असमर्थ हो गए हैं।

पंजाब सरकार को चाहिए कि सभी बिजली के बिलों को माफ किया जाए, क्योंकि लॉकडाउन के रहते सब लोगों की कमर टूट चुकी हैं। उन्होंने कहा कि प्राईवेट सेक्टर से तमाम लोगों को नौकरियों से निकाल दिया गया और जो लोग काम कर रहे हैं उनको आधा वेतन दिया जा रहा हैं। दुकानें चलाने वाले लोगों के व्यापार में भी मंदी छाई हुई हैं। इन परेशानियों में पंजाब सरकार अगर लोगों की मदद नहीं कर पा रही तो कम से कम लोगों के बिजली के बिल माफ कर कुछ हद तक राहत देकर सहयोग जरुर करना चाहिए। मोहिन्द्र भगत ने राज्य सरकार से मांग की है कि लॉकडाउन समय के दौरान औद्योगिक बिजली के फिक्स्ड चार्ज माफ किए जायें और घरेलू बिजली कनेक्शन पर 1 जून 2020 से बढ़ाये गए फिक्स्ड चार्ज वापिस लिए जाये।