आशियाने का सपना देख रहे लोगों को बजट में बड़ी राहत दे सकती है मोदी सरकार

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): अपने खुद आशियाने का सपना देख रहे लोगों को मोदी सरकार आगामी बजट में बड़ी राहत देने की तैयारी में है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,सरकार बजट में होम लोन के प्रिंसिपल, ब्याज पर टैक्स छूट बढ़ाने पर विचार कर रही है। इसके अलावा रियल एस्टेट सेक्टर के लिए भी रहात भरे बड़े कदमों का ऐलान हो सकता है। बता दें कि मोदी सरकार आगामी  5 जुलाई को पूर्ण बजट पेश करने जा रही है। 

दरअसल, मोदी सरकार रियल एस्टेट सेक्टर को मंदी से उबारना चाहती है। इसलिए इस तरह के ठोस कदम बजट में देखने को मिल सकते हैं। इसके अलग-अलग विकल्पों पर वित्त मंत्रालय विचार कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक, इन विकल्पों में सरकार जिस एक विकल्प पर गंभीरता से विचार कर रही है वो ये है कि घर खरीदारों को होम लेने के ब्याज दर में और प्रिंसिपल पर टैक्स छूट की सीमा बढ़ा दी जाए। अब कितनी बढ़ाई जाए इसके अलग-अलग रास्ते हो सकते हैं।

वित्त मंत्रालय ने रियल एस्टेट संगठनों की संस्था CREDAI से पूछा है कि अभी तक कितने घर हैं जिस पर होम लोन चल रहा है और कितने घर आप तैयार करने वाले हैं उन पर आपका अनुमान है होम लोन होने वाला है, ताकि मंत्रालय यह आकलन ले सके कि टैक्स छूट की सीमा बढ़ाते हैं तो वित्त खजाने पर कितना बोझ आएगा।

हालांकि CREDAI ने मांग की थी कि सेक्शन 80 C के तहत 5 लाख प्रिंसिपल पर सालाना 5 लाख के लिए 5 साल के लिए टैक्स छूट दी जाए और जो ब्याज दर छूट है उसे 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 4 लाख रुपये कर दी जाए। वित्त मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि इतनी बड़ी छूट देना संभव नहीं न हो, लेकिन कितनी छूट दे पाएंगे, इसका आकलन कर रहे हैं।