अकबर पर चुप्पी तोड़े मोदी: कांग्रेस

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कांग्रेस ने रविवार को कहा कि केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए क्योंकि इस मामले में देश के लोग उनकी राय जानना चाहते हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जब भी देश में संवेदनशील मुद्दे आते हैं और जनता उन मुद्दों पर मोदी की राय को जानना चाहती है तो वह चुप्पी साध लेते हैं। कांग्रेस अकबर के मुद्दे पर जनभावनाओं के साथ है और वह भी इस पर प्रधानमंत्री की राय जानना चाहती है। 

उन्होंने कहा कि विदेश राज्यमंत्री पर जिस तरह के गंभीर आरोप लगे हैं वह सरकार के लिए मर्यादा और प्रधानमंत्री की प्रतिष्ठा का सवाल है। प्रधानमंत्री सिर्फ मन की बात करना जानते हैं और एक तरफा संवाद करने में विश्वास करते हैं। देश के वह पहले प्रधानमंत्री हैं जिसनें संसद में एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया सिर्फ भाषण देते है। पिछले साढे चार साल में एक भी संवाददाता सम्मेलन नहीं किया जहां पत्रकार स्वतंत्र रूप से उनसे सवाल कर सकें।

शर्मा ने कहा कि आजाद भारत के इतिहास में राफेल देश का सबसे बड़ा रक्षा सौदा घोटाला है और इसमें स्वयं प्रधानमंत्री शामिल हैं। राफेल की खरीद में जिस प्रकार से प्रधानमंत्री के अलावा किसी को भी जानकारी नहीं है उससे पता चलता है कि इसमें वह स्वयं शामिल हैं। कांग्रेस की ओर से लगातार राफेल के मुद्दे उठाये जा रहे हैं तथा उसकी जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराने की मांग कर रही है लेकिन सरकार पीछे भाग रही है। उन्होंने कहा कि राफेल सौदे में न केवल करोड़ों का घोटाला हुआ बल्कि देश की सुरक्षा की भी अनदेखी की गई।

Related Stories: