राज ठाकरे को ईडी नोटिस से दुखी मनसे कार्यकर्ता ने किया आत्मदाह

ठाणे (महाराष्ट्र) (उत्तम हिन्दू न्यूज)- प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे को सम्मन दिए जाने से क्षुब्ध पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या कर ली। यह जानकारी बुधवार सुबह स्थानीय पुलिस ने दी। राज ठाकरे ने मंगलवार को ही सभी समर्थकों और कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत अपील की थी और कहा था कि वह हर कीमत पर शांत रहें। ठाकरे ने ईडी के सम्मन का सम्मान करने की बात कहते हुए 22 अगस्त को एजेंसी के सामने पेश होने संबंधी बयान भी दिया था। इसके एक दिन बाद ही कार्यकर्ता ने यह कदम उठाया है। कार्यकर्ता की पहचान प्रवीण चौगुले के रूप में हुई है। आग के कारण उसका शरीर 70 फीसदी तक जल गया था। उसे कालवे कस्बे में एक अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया।


एक सक्रिय कार्यकर्ता की मानें तो मृतक को हमेशा पार्टी की विभिन्न गतिविधियों व आंदोलन में सबसे आगे देखा जाता था। उसका शरीर अक्सर मनसे के झंडे के रंगों में रंगा देखा जाता था। पार्टी के एक सदस्य के अनुसार, आईएल एंड एफएस मामले में ईडी द्वारा ठाकरे को दिए गए नोटिस के बाद प्रवीण पिछले तीन दिनों से मानसिक तौर पर अशांत दिख रहा था। ईडी ने आईएल एंड एफएस से संबंधित एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ठाकरे के अलावा उनके कारोबारी सहयोगी रहे शिवसेना नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी के बेटे अनमेश जोशी को भी नोटिस जारी कर रखा है।