सपा विधायकों के साथ बदसलूकी लोकतंत्र की हत्या के समान : अखिलेश

लखनऊ (उत्तम हिन्दू न्यूज) : समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों पर हो रहे अत्याचार, बेरोजगारी और महंगाई से जूझ रही जनता की आवाज बुलंद करने के लिए ट्रैक्टर से विधान भवन जा रहे पार्टी विधायकों के साथ बदसलूकी की घटना लोकतांत्रिक अधिकारों की हत्या के समान है।
यादव ने गुरूवार को जारी बयान में कहा कि पार्टी विधायक आनन्द भदौरिया, उदयवीर सिंह, डॉ संग्राम सिंह और राजेश यादव राजू के साथ आज मुख्यमंत्री के इशारे पर किया गया दुव्र्यवहार लोकतांत्रिक अधिकारों की हत्या है। यह सपा विधायकों के प्रति भाजपा की विद्वेषपूर्ण नीति-रीति की भी परिचायक है। विधायकों को अपमानित करने के अलावा ट्रैक्टर जब्त कर लिये गए। उनके ड्राइवरों की बुरी तरह पिटाई की गई है। सत्ता के हर अन्याय और अत्याचार का उत्तर जनता अवश्य मांगेगी। उन्होंने कहा कि विधान भवन पर ट्रैक्टर के साथ अमिताभ बाजपेयी, डॉ राजपाल कश्यप, रामवृक्ष यादव, सुनील सिंह साजन के प्रदर्शन करने पर पुलिस ने दुव्र्यवहार किया। विधायकों को अपमानित करने की यह निंदनीय परम्परा भाजपा सरकार ने डाली है जिसका उसे भी भुगतान करना होगा।
सपा अध्यक्ष ने कहा कि चाहे केन्द्र की 'कील ठोको' भाजपा सरकार हो या उत्तर प्रदेश की 'ठोक दो, और 'राम नाम सत्य' कर देने वाली भाजपा सरकार ये सभी किसान आंदोलन के साथ खड़े जनसमर्थन से डरकर किसानों के प्रतीक तक से भयभीत हो उठे हैं। यह डर ही है जो भाजपा सरकार को आक्रांत किए हुए है। इसमें वे उचित-अनुचित का भेद भी भूल गए हैं और जनता के अधिकारों को भी कुचलने की कुचेष्टा की जा रही है।