शिक्षा मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री ने डीडीयू अस्पताल में किया डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण

प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने का प्रयास निरंतर जारी: परमार

शिमला (जेमी शर्मा/ऊषा शर्मा) : शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने शिमला के दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में आज डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण किया। यह प्रदेश का 7वां डायलिसिस केंद्र होगा। इससे पहले सोलन, मंडी, कुल्लू, ऊना, बिलासपुर और धर्मशाला में डायलिसिस केंद्र खोले जा चुके हैं। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि शिमला में डायलिसिस केंद्र खोलने की लोगों की पुरानी मांग थी, जिसे आज पूरा कर दिया गया है। इससे क्षेत्रीय अस्पताल में उपचार के लिए आने वाले सैंकड़ों रोगियों को सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से दो दिन पहले ही जय राम ठाकुर ने डीडीयू अस्पताल में एक कार्यक्रम के दौरान डिजिटल एक्स-रे मशीन स्थापित करने की घोषणा की थी। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री से इसे शीघ्र स्थापित करने का आग्रह किया। साथ ही अस्पताल के आर्थो विभाग को भी सुदृढ़ करने की बात कही। 

उन्होंने कहा कि इस केंद्र में बीपीएल परिवारों को नि:शुल्क जबकि एपीएल परिवारों को न्यूनतम 1169 रुपए में डायलिसिस की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश सरकार इस सुविधा को सभी जिला अस्पतालों के साथ-साथ उपमंडलीय अस्पतालों तक पहुंचाना चाहती है। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में चंबा, नूरपुर, पालमपुर एवं पांवटा साहिब में भी डायलिसिस केंद्र खोले जाएंगे। 

विपिन सिंह परमार ने कहा कि प्रदेश में अब तक इस योजना के अंतर्गत 4709 लोगों का डायलिसिस हुआ है और 30,000 से अधिक सेशन किए जा चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। विपिन सिंह परमार ने आश्वासन दिया कि डीडीयू में डिजिटल एक्स-रे मशीन दो महीने में स्थापित कर दी जाएगी। इसके लिए निविदाएं आमंत्रित की जा चुकी हैं। इस मौके उन्होंने चिकित्सकों व पैरा मेडिकल स्टॉफ से समर्पण, निष्ठा व इमानदारी के साथ कार्य करने को कहा।  

मुख्य चिकित्सा अधिकारी नीरज मित्तल ने शिक्षा मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री का स्वागत किया जबकि वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक रंजना राव ने धन्यवाद किया। इस अवसर पर एसडीएम शिमला नीरज चांदला, कमला नेहरू अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक अंबिका चौहान सहित डीडीयू अस्पताल के चिकित्सक व पैरा मेडिकल स्टॉफ व अन्य लोग भी मौजूद रहे। 

Related Stories: