पटाखे की दुकान में आग लगने से लाखों का नुकसान

अजमेर (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राजस्थान में अजमेर के क्लाक टावर थाना क्षेत्र में आज पटाखों की एक दुकान में आग लगने से लाखों रुपए के पटाखे नष्ट हो गये जबकि आसपास की दुकानों को भी क्षति पहुंची।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि केसरगंज पुलिस चौकी के नजदीक गोल चक्कर पर सुबह पांच बजे आग लग गयी। हालांकि इसकी सूचना करीब साढ़े छह बजे फायर ब्रिगेड को मिली। इस पर दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और दस गाड़ियों ने करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया।

जानकारी के मुताबिक केसरगंज गोल चक्कर पर गोवर्धन पटाखा नामक बंद दुकान में सुबह पांच बजे आग लग गई। अंदर माल भरा होने से धीरे धीरे बारूद ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया और क्षेत्र में दीवाली से पहले ही आतिशबाजी का नजारा क्षेत्रवासियों को देखने को मिला।

इसके चलते आसपास की दुकानों को भी व्यापक क्षति पहुंची है। दुकान में किन कारणों से आग लगी इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। बताया जा रहा है कि दुकान में बड़ी मात्रा में पटाखों का स्टॉक मौजूद था। पूरे हादसे में कुल कितना नुकसान हुआ इसका अभी खुलासा नहीं हो सका है।

दीपावली और विजयादशमी से ठीक पहले हुए इस अग्निकांड ने सरकार और प्रशासन पर सवालिया निशान उठाए गये हैं। कोरोना महामारी के चलते जब सरकार पटाखों को उपयोग में नहीं लेने की हिदायत दे रही है तो फिर कारोबारी के यहां पटाखों का स्टॉक कैसे बना हुआ है। उल्लेखनीय है कि अजमेर में दो दर्जन से ज्यादा थोक के पटाखा व्यवसायी तो है ही। किशनगढ़ में पटाखे बनाने की फैक्ट्रियां भी हैं।