सोनिया गांधी ने विपक्षियों संग बनाई रणनीति, ओम बिड़ला का समर्थन- एक देश एक चुनाव पर संशय

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक देश, एक चुनाव सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के लिए बुधवार को एक सर्वदलीय बैठक आयोजित करेंगे। मोदी ने संसद में प्रतिनिधित्व कर रहे सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रमुखों को बुधवार को सरकार के साथ विचारों के आदान-प्रदान और चर्चा के लिए आमंत्रित किया है। वह 20 जून को शासन के मुद्दों पर दोनों सदनों के सदस्यों से भी संवाद करेंगे। उधर, आजाद यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने मंगलवार शाम संसद परिसर में विपक्षी नेताओं की बैठक बुलाई। बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा राजनीतिक दलों के अध्यक्षों की बुलाई गई बैठक पर विपक्ष ने मंथन किया गया। बैठक में लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार ओम बिड़ला का समर्थन करने का फैसला हुआ।  



सूत्रों ने बताया कि बुधवार सुबह फिर विपक्ष की बैठक बुलाई गई है और इस दौरान सर्वदलीय बैठक में जाने पर फैसला होगा। सूत्रों के मुताबिक एक देश-एक चुनाव का विपक्ष विरोध कर सकता है। बैठक में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत दूसरी पार्टी के कई नेता मौजूद रहे। इन नेताओं में सीपीआई नेता डी राजा, नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, डीएमके नेता कनिमोझी, टीआर बालू, एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले शामिल थे। सूत्रों के मुताबिक बैठक में एक नेता ने कहा कि कभी वन नेशन वन इलेक्शन, कभी वन नेशन वन लैंग्वेज इस तरह की बातें देश को बांटने वाली है और हमारा देश ऐसा नहीं है।