कोविड राहत कोष में 51 करोड़ रुपए के वेंटिलेटर्स और दवाइयां देगी मैनकाइंड फार्मा 

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज) : देश में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या में बढोतरी होने के मद्देनजर मैनकाइंड फार्मा ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 करोड़ रुपये दान करने का संकल्प व्यक्त किया है। कंपनी कोरोना पॉजिटिव मामलों की अधिकतम संख्या वाले राज्यों में वेंटिलेटर्स, पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेन्ट (पीपीई) और दवाएं दान करेगा। मैनकाइंड फार्मा विभिन्न राज्यों की सरकारों के साथ काम करेगी जिसमें केरल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, पंजाब, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और ओडिशा शामिल है।

कंपनी ने कहा कि वह इस समय सार्वजनिक कल्याण की बेहतरी के लिये काम करेगी। कंपनी के अध्यक्ष आर सी जुनेजा ने कहा कि यह देश के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण समय है। इस समय कोरोना के विरूद्ध लड़ाई के दायित्व को हर तरीके से साझा करना सबसे जरूरी है। भारत की प्रमुख फार्मा कंपनी होने के नाते उनकी कंपनी चाहती है कि फंड का उपयोग मेडिकल की पहली पंक्ति के योद्धाओं को सुरक्षात्मक उपकरण प्रदान करने और वायरस पीडि़तों को वेंटिलेटर देने के लिये हो।