प. बंगाल में हिंसा के बाद 'दीदी' के तीखे तेवर, बोलीं- 1 सेकेंड में कर सकती हूं BJP दफ्तर पर कब्जा

कोलकाता (उत्तम हिन्दू न्यूज): हाल ही में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कोलकाता में रोड शो के दौरान हिंसा हुई। इस दौरान जहां शाह के खिलाफ प्रदर्शन किया गया, वहीं भाजपा व तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में भी झड़प हुई। इस घटना के बाद से ही सियासत गर्माई हुई है। दोनों पार्टियों द्वारा एक दूसरे पर कड़े प्रहार किये जा रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने रोड शो पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा ईंट और पत्थर फेंकने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'मेरी रैली के दौरान दो जगहों पर अशांति पैदा की गई. तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने हिंसा भड़काने की कोशिश की और हम पर ईंट व पत्थर फेंके।' वहीं, अमित शाह के रोड शो में कथित पथराव के बाद कॉलेज स्ट्रीट के पास हिंसा भड़क उठी और वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी भाजपा को अपने सख्त तेवर दिखाए। ममता ने चेतावनी भरे लहजे में कहा 'तुम लोगों का नसीब अच्छा है कि मैं यहां शांत बैठी हूं। वरना तो मैं एक सेकेंड में दिल्ली में बीजेपी दफ्तर और तुम्हारे घरों पर कब्जा कर सकती हूं।' साथ ही उन्होंने ये भी पूछा कि अमित शाह क्या भगवान हैं, जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता है?

बीजेपी का कहना है कि टीएमसी के कार्यकर्ता कलकत्ता विश्वविद्यालय के गेट पर काले झंडे लेकर पहले से ही जमा थे। शाह का रोड शो जैसे ही वहां से गुजरा, उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी और काले झंडे दिखाए। वहीं, दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों ने भी पत्थरबाजी की।