डॉक्टरों के इस्तीफे से बैकफुट पर ममता, काम पर लौटने का किया निवेदन

कोलकाता (उत्तम हिन्दू न्यूज): पश्चिम बंगाल में डाक्टरों की हड़ताल लगातार तीसरे दिन भी जारी है। सीएम ममता बनर्जी ने डाक्टरों को ड्यूटी पर लौटने के लिए चार घंटे का अल्टीमेटम दिया जिसके बाद सागर दत्ता अस्पताल के तीन असिस्टेंट प्रोफेसर, एक प्रोफेसर और चार डॉक्टरों ने इस्तीफा दे दिया है। डॉक्टरों के इस्तीफों से घबराई ममता ने मरीजों की देखभाल करने का निवेदन करते हुए मेडिकल कॉलेज के सीनियर डॉक्टरों/प्रोफेसरों और अस्पतालों को एक पत्र लिखा है। पत्र में ममता ने कहा, "कृप्या सभी मरीजों की देखभाल करें, गरीब लोग सभी जिलों से आ रहे हैं. यदि आप अस्पतालों का ध्यान रखते हैं तो मैं आभारी एवं सम्मानित महसूस करूंगी. वे आसानी और शांति से चलने चाहिए।"

इससे पहले सीएम ममता ने आज तीन दिन से हड़ताल कर रहे डॉक्टरों को चार घंटे में ड्यूटी पर लौटने अथवा अनिवार्य सेवा रखरखाव अधिनियम (एस्मा) के तहत खामियाजा भुगतने के अल्टीमेटम दिया था। जिसके बाद कई वरिष्ठ डॉक्टरों ने सामूहिक इस्तीफा देने का निर्णय लिया है और सागर दत्ता अस्पताल के तीन असिस्टेंट प्रोफेसर, एक प्रोफेसर और चार डॉक्टरों ने इस्तीफा दे दिया है।

गौरतलब है कि सोमवार रात पश्चिम बंगाल के एनआरएस अस्पताल में एक मरीज की मौत हो जाने के बाद मरीज के परिजनों ने एक जूनियर डाक्टर के साथ बुरी तरह मारपीट की थी और उसके सिर में गंभीर चाेट आई थी । डाक्टर को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।