गरीबी, आर्थिक तंगी के आगे हारी ममता, मासूम बेटी बेचने आया दंपति गिरफ्तार

मानव तस्करी के आरोप में 2 महिलाओं सहित 3 दलाल भी काबू
मोगा (दविंदर पाल सिंह) :
सिटी पुलिस ने मानव तस्करी आरोप में एक दंपति और दो महिलाओं समेत 3 दलालों को गिरफ्तार किया है। दो महीने की मासूम बेटी बेचने आई दंपति गरीबी, आर्थिक तंगी और बीमारी के आगे हार के कारण जिगर के टुकड़े को बेचने के लिए मजबूर हुए।

ताजा डिलीवरी कारण पीडि़त रजनी और मासूम बच्ची को स्थानीयसिविल अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया है। इस मामले में बाल विकास विभाग अधिकारी भी जांच कर रहे हैं।
देशभर में कोरोना वायरस फैलाव रोकने के लिए लॉकडाऊन कारण कई गरीब परिवारों पर आर्थिक तंगी के संकट छाए हुए हैं और हालात यहां तक हो गए हैं कि लुधियाना का एक दंपति आर्थिक तंगी और बीमारी के कारण अपनी 2 महीने की बेटी को बेचने के लिए मजबूर हो गया।


जांच अधिकारी थानेदार सुखविंदर सिंह ने बताया कि प्राथमिक पूछताछ में लुधियाना के हैबोवाल क्षेत्र की रजनी ने बताया कि उसकी बड़ी बेटी करीब एक साल की है और छोटी करीब 2 महीने की है। पहले लॉकडाऊन के कारण परिवार आर्थिक तंगी में रहा और इस दौरान उसका पति अवतार सिंह जो बिजली मैकेनिक है चोट लगने के कारण शरीरिक तौर पर नकारा हो गया। दोनों ने आर्थिक तंगी के कारण दो बेटियों को पालन पोषण पढ़ाई आदि पर होने वाले खर्च से असमर्थ हो गए थे। इसलिए उन्होंने अपनी 2 महीने पहले पैदा हुई बेटी को बेचने का फैसला लिया। पुलिस मुताबिक दंपति का आरोपी दलाल महिला रणजीत कौर निवासी जस्सियां रोड, हैबोवाल और जसवीर कौर निवासी कोठे शेर जंग जगराओं और कमलजीत सिंह से संपर्क हो गया। उन्होंने मोगा में जरूरतमंद को बच्ची 40 हजार रुपए में बेचने का सौदा करवा दिया। इस दौरान ढाबे पर पुलिस ने छापामारी करके उनको गिरफ्तार कर लिया गया।