भारत माता मंदिर में मनाई महात्मा बुद्ध जयंती

हिसार (विजय शर्मा) - दुनिया को अपने विचारो से नया रास्ता दिखाने वाले भगवान गौतम बुद्ध भारत के महान दार्शनिक, वैज्ञानिक, धर्मगुरु, एक महान समाज सुधारक और बौद्ध धर्म के संस्थापक थे। यह विचार भारत माता मंदिर के योगाचार्य संतोष शास्त्री ने भारत माता मंदिर में आयोजित सत्संग में बुद्ध पूर्णिमा रखे। इससे पूर्व भारत माता मंदिर के महासचिव विजय शर्मा में महात्मा बुद्ध की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्जवन कर महात्मा बुद्ध की शिक्षाओं पर चलने की प्रेरणा दी।

अचार्य संतोष शास्त्री ने महात्मा बुद्ध के जीवन से जुडी प्रेरणा दायक प्रसंगों के माध्यम से उनके सन्देशों व शिक्षाओं का उल्लेख किया। विजय शर्मा ने बताया कि महात्मा बुद्ध ने संसार को जन्म, मरण और दुखों से मुक्ति दिलाने के मार्ग की तलाश व सत्य दिव्य ज्ञान की खोज में ही पूरा जीवन लगा दिया। शर्मा ने बताया कि  बहुत सालों की कठोर साधना के बाद बोध गया (बिहार) में बोधी वृक्ष के नीचे उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे सिद्धार्थ गौतम से गौतम बुद्ध बन गये ओर बोद्ध धर्म की स्थापना की।

शर्मा ने बताया कि आज पुरे विश्व में लगभग190 करोड़ बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं जो विश्व में 25 प्रतिशत हैं।. एक सर्वे के अनुसार इसमें  चीन, जापान, वियतनाम, थाईलेंड, मंगोलिया, कंबोडिया, भूटान, साउथ कोरिया,  सिंगापूर, भारत, मलेशिया, नेपाल, इंडोनेशिया, अमेरिका और श्रीलंका आदि देश आते हैं जिसमे भूटान, श्रीलंका और भारत में बौद्ध धर्म के अनुयायी ज्यादा संख्या में हैं। इस अवसर पर श्रीमती सुनीता शर्मा,मनोरमा गुप्ता,संतोष तायल,रेखा अग्रवाल,बिमला कथुरिया,रमेश पासी, गीता मिश्रा, प.राम किशोर शुक्ल, सहित भारत माता मंदिर मातृशक्ति की महिलाओं ने भाग लिया।