सब्जी व्यापारियों से की 50 हजार की लूट, गाड़ी पर चलाई गोलियां

शाहाबाद (स्वामी): शुक्रवार को नीली बत्ती लगी गाड़ी में सवार अज्ञात लूटेरों ने शाहबाद में सब्जी व्यापारियों की गाड़ी पर गोलियां बरसाते हुए 50 हजार की लूट की है। इस संदर्भ में पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। सब्जी व्यापारियों द्वारा बताए गए गाड़ी के नंबर के आधार पर पुलिस आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। पुलिस को दी अपनी शिकायत में विशाल चौहान एवं मनु निवासी सिरमौर हिमाचल ने कहा है कि शुक्रवार को तडक़े चार बजे वह तरावड़ी करनाल की सब्जी मंडी में  टमाटर बेचकर वापिस हिमाच जा रहे थे लेकिन लेकिन उनकी गाड़ी शाहबाद लाईओवर पर पहुंची तो इसी बीच नीली बत्ती लगी गाड़ी में सवार लोगों ने उन्हें रुकने का इशारा किया। विशाल व मनु ने कहा कि गाड़ी पर बत्ती लगी होने के कारण उन्हें लगा कि शायद पुलिस की गाड़ी उन्हें रूकने के लिए कह रही है। जिस पर उन्होंने अपनी गाड़ी रोक दी। शिकायकर्ता ने कहा कि जब उन्होंने अपनी गाड़ी को रोका तो  नीली बत्ती लगी गाड़ी में सवार आठ नौ लोग गाड़ी से बाहर निकले और कहने लगे कि इस गाड़ी में गाय लाद रखी हैं । लेकिन विशाल व मनु ने कहा कि वह तरावड़ी करनाल से टमाटर बेच  कर वापिस हिमाचल जा रहे हैं ।

शिकायतकर्ता ने कहा कि इसी बीच अज्ञात लोगों ने उनकी गाड़ी का शीशा तोड़ दिया और दोनों को बाहर खींचने का प्रयास किया। शिकायकर्ता ने कहा कि जिस पर वह डर गये और अपनी गाड़ी को   वापिस करनाल की ओर भगा लिया लेकिन नीली बत्ती लगी गाड़ी भी उनका पीछा करने लगी और इस गाड़ी में सवार लोगों ने उनकी महिन्द्र पिकअप गाड़ी पर फायर किए जो कि पिछले टायर में जा लगे । शिकायतकर्ता ने कहा कि जाने पर खतरे के कारण उन्होंने ने बचाव के लिए अपनी गाड़ी को  शाहबाद के त्योड़ा थेह  पर बने ढाबे पर रोक लिया । लेकिन नीली बत्ती लगी गाड़ी वहां भी आ पहुंची। ढाबे पर पहुंचते ही 8-9 लोग गाड़ी से उतरे और उनके साथ मारपीट की और उनकी गाड़ी में रखे 50 हजार रूपए की राशि भी लेकर वहां से फरार हो गए। शिकायतकर्ता ने कहा कि बड़ी मुश्किल से उन्होंने ढाबा पर मौजूद लोगों की सहायता से इसकी सूचना शाहबाद पुलिस स्टेशन में दी  और गाड़ी का नंबर भी बताया। जिस पर डीएसपी आत्माराम पुनिया व थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने घटनास्थल का दौरा किया और आसपास के क्षेत्र में वीटी करवा दी मामले की । गंभीरता को देखते हुए जिला अपराध शाखा को भी इसकी सूचना दी गई। जिस पर जिला अपराध शाखा व पुलिस की टीमें नीली बत्ती लगी गाड़ी की तलाश में हैं। वहीं फोरेंसिक टीम भी घटनास्थल पर पहुंची और आवश्यक तथ्य जुटाए।  सूत्रों के मुताबिक जिला अपराध शाखा ने नीली बत्ती लगी गाड़ी और उसमें सवार लोगों को पकड़ लिया है और उनसे पूछताछ जारी है।

ऐसा बताया जा रहा है कि इस गाड़ी में सवार लोग खुद को गौरक्षा दल का बता रहे हैं। हालांकि इसे लेकर पुलिस ने किसी तरह की पुष्टि नहीं की है। थाना प्रभारी का पक्ष : इस बारे में थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने कहा कि सब्जी व्यापारियों की शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। लेकिन मामले की जांच चल रही है। गाड़ी पर गोलियां चलाई गई है या नहीं इसके लिए फोरेंसिक टीम ने तथ्य लिए हैं। जांच के बाद ही सही मामला सामने आएगा।
फोटो केप्शन 31सीएचजी2  : मामले की जानकार देते सब्जी व्यापारी।