लोक इंसाफ पार्टी ने दलित समाज के साथ मिलकर निकाला रोष मार्च

फगवाड़ा (गिरधर शर्मा) - दिल्ली के तुगलकाबाद में श्री गुरु रविदास मंदिर को गिराए जाने से गुस्साए समूह दलित समाज के लोगों ने लोक इंसाफ पार्टी के प्रधान सिमरजीत सिंह बंैस के नेतृत्व में शहर में गांव चक्क हकीम से लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश के निवास स्थान तक रोष मार्च निकाला। इस दौरान केंद्र सरकार व सोम प्रकाश के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। हालांकि प्रदर्शनकारियों को पुलिस की ओर से सोम प्रकाश के निवास स्थान से करीब 50 मीटर दूसरी पर बेरीगेट लगाकर रोक लिया था। जहां प्रदर्शन के दौरान एसडीएम जय इंद्र सिंह को ज्ञापन सौंपकर प्रदर्शन खत्म किया गया।

सुबह करीब 10.30 बजे समूह दलित समाज व लोक इंसाफ पार्टी के समर्थक श्री गुरु रविदास मंदिर चक्क हकीम में जरनैल नंगल के नेतृत्व में एकत्र हुए। जहां से विधायक एवं लोक इंसाफ पार्टी के प्रधान सिमरजीत सिंह की अगुवाई में सभी सदस्य केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश के निवास स्थान की ओर मार्च निकालते हुए रवाना हुए। इस दौरान केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सोम प्रकाश के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।करीब 6 किलोमीटर का दायरा सभी प्रदर्शनकारियों ने पैदल तय किया। जो करीब 12.45 बजे अर्बन एस्टेट पहुंचे। जहां पुलिस की ओर से करीब 50 मीटर दूसरी पर बेरीगेट लगाकर प्रदर्शनकारियों को मंत्री सोम प्रकाश के निवास स्थान जाने से रोक दिया।

जहा प्रदर्शनकारियों से संबोधित करते हुए बैंस ने कहा कि दिल्ली में जो गुरु साहिब के मंदिर को गिराने की बेअदबी की गई है वो निंदनीय है। जिस कारण समूह दलित भाइचारे में रोष व्याप्त है। उन्होंने बताया कि आज का प्रदर्शन इसलिए है कि केंद्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश सरकार में प्रतिनिधि होने के बावजूद उनकी आवाज को केंद्र तक पहुंचा नहीं रहे। जिस कारण उनके निवास स्थान का घेराव किया जा रहा है। करीब 45 मिनट तक चले धरने में विधायक सिमरजीत सिंह बैंस अचानक बेसुध हो गए और उन्हें जमीन पर लेटाकर पानी पिलाया गया। जिस के बाद उन्हें होश आया। इस दौरान उन्होंने एसडीएम जयइंद्र सिंह को अपनी मांगों संबंधी एक ज्ञापन सौंपा। जिसके बाद धरना समाप्त हो गया।