बिजली की चिंगारी से मेला मंडी में कपास में लगी आग 

नरवाना (नरेन्द्र जेठी) शुक्रवार दोफहर बाद मेला मंडी में एक किसान ने अरमानों को बिजली की चिंगारी ने भस्म कर दिया। शुक्रवार को कपास की एक ढेरी में बिजली की चिंगारी के कारण आग लग गई। आग के कारण किसान को भारी नुक्सान हुआ है। किसान ने बिजली विभाग की लापरवाही करार दिया है। कपास में आग लगने की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर पहुची और आग पर काबू पाया। बता दे कि खरड़वाल गांव का किसान दीपक पुत्र भीम सिंह अपनी कपास की फसल बेचने के लिए नरवाना मेला मंडी में आया हुआ था। किसान अपनी फसल बनारसी दास प्रेम चंद आढती की दूकान पर बेचने आया था। किसान अपनी फसल बेच चूका था लेकिन फसल की तुलाई नही हुई थी। तुलाई से पहले ही बिजली की चिंगारी से फसल में आग लग गई। किसान दीपक ने कहा कि बिजली विभाग क ी लापरवाही के कारण फसल आग की चपेट में आई है। किसान ने कहा कि तारे इतनी नीची है कि हाथ भी लग जाता है। आग लगने के बाद मार्किट कमेटी के अधिकारी मौके पर पहुचें। मंडी प्रधान जयदेव बंसल ने किसान को उचित मुआवजा देने की मांग की है। 

सचिव की शिकायत पर भी नही लिया संज्ञान 
मार्कि ट कमेटी सचिव द्वारा 12 तारीख को उपमंडल अधिकारी व कार्यकारी अभियंता बिजली विभाग के  नाम लैटर जारी करके बिजली की तारों को ऊचा करने के लिए शिकायत दी गई थी लेकिन 3-4 दिन बीत जाने के बाद भी विभाग ने कोई संज्ञान नही लिया। अगर कहा जाए कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण किसान को नुक्सान हुआ है तो कोई अतिश्योक्ति नही होगी क्योकि मार्किट कमेटी द्वारा जारी लैटर में स्पष्ट कहा गया है कि दूकान 150 से 175 तक बिजली विभाग की तारे नीची है और जिसके कारण ट्रकों व ट्रैक्टरों को परेशानी होती है। 

आग के कारणों का नही पता
बिजली विभाग के  एसडीओ भजन सिंह ने कहा कि शिकायत रिकार्ड में देखकर ही बताई जा सकती है। आग की सूचना मिल चूकी है और जेई को मौके पर भेजा गया है। आग के कारणों का पता लगाया जाएगा और उसके बाद पूरी जानकारी दी जाएगी।