जिम और योग संस्थानों को पालन करने होंगे ये नियम, केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): केंद्र सरकार की तरफ से अनलॉक 3.0 में जिम और योग संस्थानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है। इसके साथ ही, इस दौरान कोरोना का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कई गाइलाइंस भी जारी की हैं। इसके तहत 65 साल से अधिक उम्र के लोगों को जिम में प्रवेश करने पर पाबंदी रहेगी। इसी तरह कई अन्य पाबंदियां व निर्देश भी जारी किए गए हैं,  जिनका पालन करना हर संस्थान के लिए जरूरी होगा।
Gyms and Yoga Centres all clear to operate from 5th August

पालन करने होंगे ये नियम
-कंटेनमेंट जोन में आने वाले योगा संस्थान और जिम को बंद रखा जाएगा और यहां आम लोग नहीं आ पाएंगे। जो जिम और योगा संस्थान कंटेनमेंट जोन में नहीं हैं केवल उन्हें खोलने की इजाजत ती गई है।

-केंद्र/ राज्य सरकारों द्वारा समय- समय पर जारी सभी गाइलाइंस को इन्हें पालन करना होगा।

-65 साल से अधिक उम्र के लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम के बच्चों को जिम के प्रयोग की इजाजत नहीं होगी।

-सभी शख्स को सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा और कम से कम 6 फीट की दूरी बनाकर रखनी होगी।
अनलॉक 3.0 की गाइडलाइन जारीः UP में 5 ...

-परिसर में रहने के दौरान फेस मास्क का इस्तेमाल जरूरी होगा। हालांकि योग करने और जिम में एक्सरसाइज के दौरान ऐसा करना जरूरी नहीं होगा।

-बीच-बीच में साबुन से कम से कम 40-60 सेकेंड तक हाथ धोने की आदत रखें। अल्कोहल युक्त सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।

-परिसर में थूकना सख्ती से मना किया जाए।

-आरोग्य सेतु ऐप सभी के जरूरी होगा।

-अगर किसी प्रकार की बीमारी या उसके लक्षण दिखे तो तुरंत इस बारे में निकटतम हेल्थ सेंटर को बताएं।

Kolkata: Gyms, yoga centres split on decision to reopen | Kolkata ...
योग संस्थान/जिम खोलने से पहले इसका रखें ध्यान
-योग और जिम में लोगों के लिए पर्याप्त जगह हो। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मशीनों और अन्य चीजों को पर्याप्त दूरी पर रखें।

-अगर परिसर के बाहर जगह हो तो उपकरणों को वहां रखने का इंतजाम करें।

-परिसर में आने और जाने के अलग-अलग रास्तों का इस्तेमाल करें। इसके अलाला क्यू मैनेजमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करें और कम से कम 6 फीट की दूरी का ध्यान रखें।

-पेमेंट के लिए कंटैक्टलेस सिस्टम का इस्तेमाल किया जाए।

-एसी/ वैंटिलेशन के इस्तेमाल के लिए CPWD के गाइडलाइंस का पालन किया जाए। सभी एसी के तापमान 24-30 डिग्री के बीच हो। इसी तरह से ह्यूडिटी का स्तर 40-70% तक हो। ताजी हवा आने के लिए ज्यादा से ज्यादा जगह हो और वैंटिलेशन का भी पर्याप्त जगह हो।

-जिम के फ्लोर पर काम करने वाले स्टाफ की संख्या कम हो। Locker का इस्तेमाल सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए किया जा सकता है।

-डस्टबीन और ट्रैश केन हर वक्त पूरी तरह ढके रहें।

-परिसर को लगातार डिसइंफेक्ट किया जाए। प्रवेश द्वार, बिल्डिंग, कमरें, सभी क्षेत्र जिनका इस्तेमाल कर्मचारियों और लोगों ने किया हो, वॉशरूम, शौचालय, और अन्य सामानों को लगातार डिसइंफेक्ट किया जाए।