जाने क्यों होता है हंता वायरस, क्या हैं इसके लक्षण

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): कोरोना वायरस से परेशान चीन में एक और मुसीबत आ खड़ी है। इस परेशानी का नाम हंता वायरस है। इस वाइरस से एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जिसके चलते दुनिया भर के लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। लोगों को डर है कि ये भी कोरोना की तरह महामारी न बन जाये। हालांकि इस बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी है कि हंता वायरस की वजह से होता है और उसकी पहचान कैसे होगी।

Image result for hantavirus

जानिए क्या है हंता वायरस 
कोरोना वायरस से जूझ रहे चीन के लिए हंता वायरस मुसीबत बन गया है। विशेषज्ञों के अनुसार हंता वायरस चूहों और गिलहरियों के संपर्क में आने के कारण फैलता है। अभी तक के किए गए शोध के अनुसार यह वायरस हवा के जरिए नहीं फैलता और ना ही पर्सन टू पर्सन। लेकिन अगर कोई व्यक्ति चूहा या गिलहरी के संपर्क में आता है तो, उसे हंता वायरस का संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। हंता वायरस के कारण लोगों में हंता वायरस रोग हो जाता है, जिसके कारण इंसान की मौत भी हो सकती है।

Image result for जानिए क्या है हंता वायरस

जाने हंता वायरस के लक्षण
इस वायरस के लक्षण को आप बड़ी आसानी से पहचान सकते हैं। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल और प्रेवेंशन के अनुसार जब कोई इंसान हंता वायरस से संक्रमित होने पर, उसे 101 डिग्री के ऊपर बुखार होता है, उसकी मांसपेशियों में दर्द रहता है और उसे सिर दर्द भी महसूस होता है। इसके साथ-साथ हंता वायरस से संक्रमित व्यक्ति को मतली, उल्टी और पेट दर्द की समस्या भी होती है। साथ ही साथ त्वचा पर लाल दाने भी उभरने लगते हैं। फिलहाल वैज्ञानिक इसके संक्रमण को रोकने के लिए लगातार अध्ययन कर रहे हैं। डॉक्टरों ने यह भी कहा गया है कि लोगों को इससे घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह केवल चूहा और गिलहरियों के ही संपर्क में आने से फैलता है। हालांकि हंता वायरस से भारत भी अछूता नहीं रहा है। 2008 और 2016 में दो बार ऐसे मामले सामने आए हैं। फिलहाल एहतियात के तौर पर आप भी अपने आसपास मौजूद चूहों और गिलहरियों से दूरी बनाए रखें।