केरल: SDPI की रैली के दौरान हिसंक झड़प, RSS कार्यकर्ता की मौत- 8 कार्यकर्ता हिरासत में

तिरुवनंतपुरम (उत्तम हिन्दू न्यूज) : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के बीच झड़प के रूप में गुरुवार सुबह केरल के अलाप्पुझा जिले में तनाव की स्थिति पैदा हो गई। इस दौरान आरएसएस के एक कार्यकर्ता की मौत हो गई। बुधवार को देर रात हुई झड़प में छह लोग घायल हो गए। बता दें कि यह रैली एसडीपीआई द्वारा निकाली गई थी। घायलों में दो की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

केरल: झड़प में RSS कार्यकर्ता की मौत, बंद का ऐलान- SDPI के 8 कार्यकर्ता हिरासत में

पुलिस के मुताबिक आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या के मामले में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के 8 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है। एसडीपीआई SDPI इस्लामिक संगठन पीएफआई की राजनीतिक इकाई है। पुलिस ने बताया कि झड़प में कई अन्य लोग घायल भी हुए हैं। हालांकि उसने मामले में अधिक जानकारी साझा नहीं की। केरल की बीजेपी इकाई के अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने आरएसएस कार्यकर्ता की मौत की निंदा की और इसके लिए पीएफआई को जिम्मेदार ठहराया।

बीजेपी और हिंदू संगठनों ने आरएसएस कार्यकर्ता की मौत के विरोध में आज सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक अलप्पुझा जिले में बुलाए गए बंद का असर दिखाई दे रहा है। बंद को लेकर बीजेपी जिला अध्यक्ष एमवी गोपकुमार ने जानकारी दी थी।

बीजेपी नेता और पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने भी RSS कार्यकर्ता की मौत को लेकर ट्वीट किया, उन्होंने कहा, ”केरल के वायलार में SDPI कार्यकर्ताओं की तरफ से किए गए एक क्रूर हमले में RSS कार्यकर्ता नंदू कृष्ण की मौत हो गई। वो 22 साल का था। एसडीपीआई ने हाल ही में वायलार में भड़काऊ नारेबाजी करते हुए जुलूस निकाला था।”

Bandh

पुलिस ने बताया कि झड़प में कई अन्य लोग घायल भी हुए हैं। हालांकि पुलिस ने मामले में अधिक जानकारी साझा नहीं की। दोनों दलों ने विरोध मार्च किया, जो झड़प के रूप में दिखाई दिया। स्थानीय लोगों ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से आरएसएस और एसडीपीआई के बीच तनाव चल रहा था। जब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ हाल ही में कासरगोड पहुंचे तो वायलार के एसडीपीआई कार्यकर्ताओं ने एक विरोध सभा आयोजित की।