केजरीवाल पर भड़की एशियाई खेलों की पदक विजेता दिव्या, बोली सरकार ने वादा कर नहीं की मदद

नई दिल्ली(उत्तम हिन्दू न्यूज)- हाल ही में संपन्न हुए 18वें एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने वाली पहलवान दिव्या काकरन ने दिल्ली सरकार को आड़े हाथ लेते हुए आरोप लगाया है कि इन खेलों से पहले उन्हें सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं मिली और यदि जरूरत के समय उन्हें मदद मिली होती, तो वह स्वर्ण पदक भी जीत सकती थी। 

दिल्ली सरकार द्वारा यहां बुधवार को आयोजित सम्मान समारोह में काकरन ने कहा, “जरूरत के समय कोई भी हमारी मदद नहीं करता है। अगर मुझे मदद मिली होती तो मैं स्वर्ण पदक भी जीत सकती थी।” काकरन ने एशियाई खेलों में महिलाओं के 68 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में ताइपे की चेन वेनलिंग को हराया। दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से बातचीत में काकरन ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी की सरकार ने पदक जीतने के बाद उन्हें मदद की पेशकश की, लेकिन ‘जरूरत के समय’ उन्हें मदद नहीं मिली।

काकरन ने कहा, “मैंने राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया। इसके बाद आपने मुझे मदद का आश्वासन दिया। जब मैंने एशियाई खेलों की तैयारी के लिए मदद मांगी तो मुझे नहीं मिली। मैंने लिखित तौर पर भी दिया लेकिन किसी ने मेरा फोन तक नहीं उठाया।” उन्होंने मुख्यमंत्री से गरीब बच्चों की मदद की अपील की। केजरीवाल ने धैर्य के साथ उनकी बातों को सुना और कहा कि वह उनसे सहमत हैं लेकिन उनकी सरकार कई अवरोधों का सामना कर रही थी।
 

Related Stories: