पत्रकार को PM मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करना पड़ा महंगा, एक साल की हुई जेल

नई दिल्ली(उत्तम हिन्दू न्यूज)- निजी समाचार चैनल के पत्रकार को प्रधानमंत्री मोदी पर टिप्पणी करना महंगा पड़ गया। मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार किशोचंद्र वांगखेम को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत जेल भेज दिया गया है। 

20 नवंबर को पत्रकार किशोचंद्र वांगखेम को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद 26 नवंबर को सीजेएम कोर्ट ने 70 हजार के मुचलके पर जमानत दी थी। अब एनएसए के तहत उन्हें 12 महीने तक जले में ही रहना होगा। बता दें कि पिछले महीने मणिपुर सरकार के रानी लक्ष्मी बाई की जयंती मनाने के फैसले पर आपत्ति जताते हुए वांगखेम ने सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो पोस्ट किए थे। सारे वीडियो अंग्रेजी और मेइती भाषा में पोस्ट किए गए थे। कहा जाता है कि इन्हीं वीडियो में मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक बातें कही गई थी।

सूत्रों के अनुसार 11 दिसंबर को रिव्यू कमेटी का ऑर्डर मिला और 13 दिसंबर के रिपोर्ट में कहा गया कि वांगखेम को 12 महीने के लिए एनएसए के तहत हिरासत में रखना चाहिए। वांगखेम के वकील की मानें तो यह सारी प्रगति एनएसए के नाम पर हुई है।