+

टोक्यो पैरालंपिक में चमके जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया के प्रायोजित पैरा एथलीट

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया लिमिटेड की ओर से प्रायोजित पैरा एथलीटों ने हाल ही में समाप्त टोक्यो पैरालंपिक खेलों 2020 में देश के लिए
टोक्यो पैरालंपिक में चमके जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया के प्रायोजित पैरा एथलीट

नयी दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया लिमिटेड की ओर से प्रायोजित पैरा एथलीटों ने हाल ही में समाप्त टोक्यो पैरालंपिक खेलों 2020 में देश के लिए शानदार प्रदर्शन किया। कंपनी द्वारा प्रायोजित 10 पैरा एथलीटों में से तीन ने पोडियम (शीर्ष तीन) फिनिश किया। सुमित अंतिल ने स्वर्ण, योगेश कथुनिया ने रजत और सुंदर सिंह गुर्जर ने कांस्य पदक जीता। इस शानदार पहल ने भारत में पैरा-खेलों को बढ़ावा देने का मार्ग भी प्रशस्त किया है।

कंपनी द्वारा प्रायोजित शिरडी साईं बाबा फाउंडेशन की पहल ‘रेडिएंट इन क्वेस्ट ऑफ गोल्ड ’ के तहत टोक्यो पैरालंपिक 2020 में पदक जीतने वाले सभी भारतीय पैरा एथलीट फीचर फिल्म ‘चल जीत लें ये जहां’ में दिखाई देंगे। कंपनी ने एक बयान में कहा, “ हमारे स्टार पैरालंपिक एथलीट सुमित अंतिल (भाला फेंक), योगेश कथुनिया (डिस्कस थ्रो) और सुंदर सिंह गुर्जर (भाला फेंक) टोक्यो पैरालंपिक में देश के लिए क्रमश: स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक लेकर आए हैं। देश में पैरालंपिक खेलों को बढ़ावा देने और टोक्यो पैरालंपिक 2020 में स्वर्ण पदक लाने के उद्देश्य से शिरडी साईं बाबा फाउंडेशन के साथ 2017 में एक अनूठी पहल की गई थी। ”

उल्लेखनीय है कि इस पहल के तहत कंपनी की ओर से 10 पैरा एथलीटों काे प्रायोजित किया था, जिन्होंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेलों में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है। पहल के तहत मुख्य रूप से टोक्यो पैरालंपिक 2020 में पदक जीतने पर ध्यान केंद्रित किया गया। इस पहल को सफलता तब मिली जब टोक्यो पैरालंपिक में चमके जॉनसन कंट्रोल्स-हिताची एयर कंडीशनिंग इंडिया द्वारा प्रायोजित 10 पैरा एथलीटों में से तीन ने पोडियम (शीर्ष तीन) फिनिश किया। सुमित अंतिल ने स्वर्ण, योगेश कथुनिया ने रजत और सुंदर सिंह गुर्जर ने कांस्य पदक जीता। इस अभियान के तहत प्रायोजित 10 पैरा एथलीटों ने एशियाई पैरा खेलों, विश्व पैरा ग्रां प्री और टोक्यो पैरालंपिक जैसे विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के लिए पिछले तीन वर्षों में कुल 19 पदक हासिल किए हैं जो देश के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।

शेयर करें
facebook twitter