Monday, May 20, 2019 02:58 AM

जयराम ठाकुर की विनम्रता

लोकसभा चुनाव के पांच चरण पूरे होने के बाद अब छठे और सातवें चरण को लेकर दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां पहले से अधिक तेज  हो गई हैं। मौसम के बढ़ते तापमान का राजनीतिक दलों के नेताओं की भाषा पर भी प्रभाव देखने को मिल रहा हैं। कई बार तो गुस्से में मर्यादा का भी ख्याल नहीं रहता। हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के सहारे ही अपनी चुनावी किश्ती को पार कराने के प्रयास में है।

वीरभद्र बढ़ते दबाव के कारण कभी-कभी तनाव में आकर कुछ ऐसा कह जाते हैं जो शायद उनके व्यक्तित्व के विपरीत दिखाई देता है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जो अपनी विनम्रता के कारण प्रदेश की राजनीति में ही नहीं बल्कि जन साधारण में अपनी विशेष पहचान बनाने में सफल रहे हैं, के बारे में जो कुछ वीरभद्र ने पिछले दिनों कहा उसके लिए वह चर्चा में हैं।

वीरभद्र सिंह ने जयराम ठाकुर को लेकर जिन शब्दों का इस्तेमाल किया और जो भाव प्रकट किए उसको लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद शांता कुमार ने अपनी प्रतिक्रिया इस प्रकार दी है। 'वीरभद्र ने जय राम को शातिर, सत्ता का नशा और अपने आपे से बाहर होने जैसे कड़वे शब्द कहे लेकिन मुझे यकीन नहीं हो रहा। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि यह सब वीरभद्र ने दिल से नहीं, गुस्से में कहा होगा। कहा, जयराम ने थोड़े ही अरसे में अपनी अच्छी पहचान बनाकर देश भर में दिग्गज मुख्यमंत्रियों में लोकप्रियता में दूसरा स्थान अर्जित किया। यदि वीरभद्र अपने शब्दों पर विचार करेंगे तो उन्हें लगेगा कि वह गुस्से में बहुत कुछ गलत कह गए। वीरभद्र के दिल की हालत को समझता हूं, वे एक मजबूरी में मंडी क्षेत्र में कांग्रेस का प्रचार कर रहे हैं। वीरभद्र ही मंच से कह चुके हैं, वे आया राम-गया राम के खिलाफ हैं। उन्होंने तो यह भी कहा था कि धोखा देने वाले सुखराम को वे कभी नहीं भूल सकते।

एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वीरभद्र की वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर टिप्पणी करते हुए कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपने विचार व्यक्त करने का अधिकार है। कांग्रेस के कुछ नेता कांग्रेस हाईकमान व वरिष्ठ नेता वीरभद्र सिंह को गलत फीडबैक दे रहे हैं। जयराम ठाकुर ने कहा कि इस बार प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों पर भाजपा बड़े अंतर से जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा कि इसी डर के चलते कांग्रेस के दिग्गज नेता चुनाव लडऩे से कतरा रहे थे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक हताशा के चलते ही कांग्रेस नेता अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं, जो स्वस्थ लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ऐसी भाषा से परहेज करना चाहिए, क्योंकि जनता उनके झांसे में नहीं आने वाली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों में देश आज मजबूत एवं सुरक्षित है तथा उनका एक बार फिर प्रधानमंत्री बनना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी आलू से सोना निकालने की बात कहते हैं जो देशवासियों की समझ से बाहर है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के प्रति अभद्र भाषा का प्रयोग करने पर राहुल गांधी को सर्वोच्च न्यायालय ने फटकार लगाई, इसके बावजूद वे सभ्य भाषा का प्रयोग नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद देश कांग्रेस मुक्त और कांग्रेस गांधी परिवार से मुक्त हो जाएगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रहित के लिए समर्पित नरेन्द्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनाना समय की मांग है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में वीरभद्र सिंह, शांता कुमार और प्रेम कुमार धूमल जैसे दिग्गज नेताओं के बाद इतने थोड़े समय में अपनी अलग पहचान बनाने में सफलता हासिल की है तो इसका मुख्य कारण उनकी विनम्रता ही है। काम के प्रति प्रतिबद्धता और ईमानदारी के कारण ही वह हिमाचल प्रदेश के जन साधारण का दिल जीतने में सफल रहे हैं। राजनीति के गर्म माहौल में भी उन्होंने अपने दिलो-दिमाग को ठंडा रख अपनी बात कही है। इसीलिए जहां उनके विरोधियों की समस्याएं बढ़ रही हैं वही जयराम ठाकुर जनता का विश्वास जीतने में सफल हो रहे हैं। 

-इरविन खन्ना, मुख्य संपादक, दैनिक उत्तम हिन्दू।

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400023000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।