जालंधरः फीस में छूट मांगी तो प्रिंसिपल बोले- 3 बच्चे करन नू मै किहा सी, Video सोशल मीडिया पर वायरल

चंडीगढ़ (उत्तम हिन्दू न्यूज): कोरोना के दौर में आर्थिक दिक्कतें झेल रहे अभिभावक आज एमजीएन स्कूल में फीसों में छूट की मांग को लेकर पहुंचे थे। लेकिन इस बीच प्रिंसिपल से बातचीत के दौरान कुछ ऐसा हो गया कि देखते ही देखते मामला गरमा गया। दरअसल, बातचीत करने पहुंचे परिजनों में से एक ने अपने 3 बच्चों का हवाला देकर फीस में छूट देने की बात कही। इस पर स्कूल प्रिसिंपल ने भरी सभा में कह दिया कि 'तेन बच्चे मैं थोड़े न किहा सी करन वास्ते'। वहां मौजूद अभिभावकों ने इसका गहरा विरोध जताया है। प्रिंसिपल के इस तरह के जवाब पर परिजनों ने शर्मनाक करार दिया है। उन्होंने प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है। नीचे दिए गए लिंक पर आप पूरे मामले की वीडियो देख सकते है- 

सरकारी स्कूलों में इस साल नहीं लगेगी कोई फीस
बता दें, शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अभिभावको को बड़ी राहत दी है। उन्होंने ऐलान किया कि कोरोना संकट के चलते सरकारी स्कूल शैक्षिक सैशन 2020 -21 के लिए विद्यार्थियों से कोई भी दाख़िला फीस, फिर दाख़िला और ट्यूशन फीस नहीं लेंगे मतलब कि सरकारी स्कूलों में इस बार कोई भी फीस नहीं लगेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जहाँ तक निजी स्कूलों के फीस लेने का संबंध है, राज्य सरकार पहले ही अदालत में जा चुकी है परन्तु सरकारी स्कूलों की तरफ से पूरे साल के लिए कोई भी फीस नही ली जाएगी। प्राइवेट स्कूलों की फीस से अभिभावकों को राहत देने के लिए पंजाब सरकार पहले ही अदालत में मामला उठा रही है।