खालिस्तान जिंदाबाद के नारे को गैर कानूनी घोषित करने के लिए खटखटाएंगे कोर्ट का दरवाजाः इशांत शर्मा

जालंधर (सौरभ खन्ना)- शिव सेना हिन्द की विशेष बैठक प्रदेश उपाध्यक्ष मोहित वर्मा, जिला प्रधान सोहित शर्मा, जिला यूथ प्रधान अभिषेक शर्मा व प्रदेश प्रधान स्पोर्ट्स सेल विनय कपूर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा ईशांत शर्मा विशेष रूप से उपस्थित हुए। इशांत शर्मा ने बताया कि कुछ वर्षों पहले खालिस्तान समर्थक सिमरनजीत सिंह मान ने कोर्ट में केस फाइल किया था कि खालिस्तान जिंदाबाद नारे लगाना गैर कानूनी नहीं है और कोर्ट ने भी मान के हक में फैसला सुनाया था।

 

 

इशांत शर्मा ने कहा कि हम शुरू से ही कोर्ट के इस फैसले को अस्वीकार करते है और अब शिव सेना हिन्द कोर्ट में इस फैसले के खिलाफ रिट पिटीशन डाल रही है। उन्होंने कहा कि शिव सेना हिन्द खालिस्तान शब्द को कभी बर्दास्त नहीं करती तो खालिस्तान जिंदाबाद के नारे को कैसे बर्दाश्त कर सकती है? इशांत शर्मा ने कहा कि जितनी श्रद्धा हमारी श्रीमद भगवत गीता ग्रंथ में है उतनी ही श्रद्धा हमारी श्री गुरु ग्रंथ साहिब में है, लेकिन खालिस्तान के नाम पर तमाम हिन्दू नेताओं की हत्याएं हुई थी और कई घरों के चिराग बुझा दिए गये थे। पंजाब में खून की होली खेली गई थी। इसलिए हम खालिस्तान शब्द की जय-जय कार कैसे सुन सकते हैं। खालिस्तान जिंदाबाद नहीं, बल्कि खालिस्तान आंतकी मुर्दाबाद के नारे लगने चाहिए। उन्होंने सरकार से भी मांग की है कि वह भी अपनी तरफ से खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर सख्ती से रोक लगाए व इन नारों को बोलने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। इशांत शर्मा ने कहा कि आतंकवादी गुरपतवंत सिंह पन्नू इस नारे को बोलकर कई सिखों को भड़काने का काम करते हैं। इस दौरान सुभाष महाजन, मुनीश बाहरी, संदीप पाहवा और काला बाबा ने कहा कि अबोहर में भड़काऊ पोस्टर लगाकर खालिस्तान का समर्थन करने वाले आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। इस मौके पर अजय शर्मा, अमित अरोड़ा, विक्की शर्मा आदि मौजूद थे।