Tuesday, February 19, 2019 06:41 AM

शाहपुर कंडी प्रोजेक्ट पूरा होने पर 37173 हैक्टेयर में हो सकेगी सिंचाई : कांगड़

पटियाला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पंजाब और जम्मू कश्मीर ने 2793 करोड़ रुपए की लागत वाले शाहपुर कंडी प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। ये जानकारी बिजली एवं ऊर्जा मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ ने दी।  बिजली एवं ऊर्जा मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ के अनुसार दोनों राज्यों की सरकारें यह प्रोजेक्ट 3 साल में मुकम्मल करने के लिए सहमत हुई हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा लगातार कोशिशों के नतीजे के तौर पर यह समझौता संभव हुआ है। गुरप्रीत सिंह कांगड़ ने बताया कि शाहपुर कंडी डैम एक अंतरराजीय प्रोजेक्ट है जिसको भारत सरकार ने फरवरी 2008 में एक राष्ट्रीय प्रोजेक्ट के तौर पर मंजूदी दी थी।

इसकी लागत 2285.81 करोड़ रुपए थी, जिसमें 653.97 करोड़ रुपए सिंचाई कार्यों के लिए थे। चाहे इस प्रोजेक्ट का काम 2013 में शुरू हो गया था परन्तु, जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा कुछ प्वाइंट उठाने के कारण यह काम 2014 में रुक गया था। कांगड़ के अनुसार यह प्रोजेक्ट लागू होने से रणजीत सागर डैम प्रोजेक्ट पावर स्टेशन बढ़ते रूप में ‘पीकिंग प्रोजैक्ट’ के तौर पर कार्य करने लगेगा। इसके अलावा इसकी बिजली पैदा करने की क्षमता 206 मेगावाट होगी और इससे पंजाब और जम्मू-कश्मीर में 37173 हैक्टेयर सी.सी.ए. सिंचाई हो सकेगी।

इससे देश पंजाब के साथ हुए सिंधु जल समझौते के अनुसार रावी के पूरे पानी का प्रयोग करने के समर्थ हो जायेगा। इससे सिर्फ देश को बिजली और सिंचाई के रूप में सालाना 850 करोड़ रुपए का फ़ायदा ही नहीं होगा, बल्कि इससे पाकिस्तान को रावी का फिज़़ूल जा रहा पानी भी रोका जा सकेगा। वहीं पीएसपीसीएल के  सीएमडी बलदेव सिंह सरां ने इस ऐतिहासिक समझौते को सम्पूर्ण करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह का धन्यवाद किया है। इस दौरान सरां ने बिजली एवं ऊर्जा मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ का भी आभार जताया। 
 

देश की सबसे बड़ी और तेज WhatsApp News Service से जुड़ने के लिए हमारे नंब 7400043000 पर Missed Call दें। इस नंबर को Save करना मत भूलें।