भारत-पाक विदेश मंत्रियों की बैठक में करतारपुर साहिब कॉरीडोर पर होगी बात

नई दिल्ली (उत्तम हिन्दू न्यूज): भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा अधिवेशन के इतर बैठक होगी जिसमें करतारपुर साहिब के लिए सिख तीर्थयात्रियों को जाने की इजाजत देने के मुद्दे पर बातचीत होगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी देते हुए बताया कि पाकिस्तान के उच्चायुक्त ने खान का प्रधानमंत्री को लिखा पत्र 17 सितंबर को यहां विदेश मंत्री को सौंपा था। उसी के साथ एक अन्य पत्र पाकिस्तानी विदेश मंत्री की ओर से भी श्रीमती स्वराज को दिया गया था जिसमें न्यूयॉर्क में मंत्री स्तरीय बैठक का आग्रह किया गया था। 

करतारपुर साहिब को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कुमार ने कहा कि इस मुद्दे को 1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी द्वारा लाहौर बस यात्रा के दौरान उठाया गया था जिस पर पाकिस्तान ने कोई जवाब नहीं दिया था। बाद में 2004 में 400वें प्रकाश उत्सव के दौरान, 2006 और 2008 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समय भी प्रयास किये गये थे। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के समक्ष यह मुद्दा उठाया था और उसके बाद तय हुआ कि न्यूयॉर्क में पाकिस्तानी विदेश मंत्री से मुलाकात में इस विषय पर चर्चा होगी। पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की विदेश मंत्री से इस मुद्दे को लेकर मुलाकात की बात पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा कि श्रीमती स्वराज ने सिद्धू को अवगत कराया था कि श्रीमती बादल ने उनके संज्ञान में यह बात लायी है और वह इस पर पाकिस्तान से बात करेंगी। पाकिस्तान के सुरक्षा बलों द्वारा जम्मू कश्मीर में सीमा सुरक्षा बल के एक जवान को अगवा करके उसकी नृशंस हत्या करने और उसके शव के साथ अमानवीयता बरतने के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा कि इस बर्बर घटना पर बीएसएफ ने पाकिस्तान के समकक्ष कड़ा विरोध व्यक्त किया है। सरकार भी इसे गंभीरता से उठाएगी। 

Related Stories: