मोहब्बत के लिए पाक की जेल में 6 साल बिताकर लौटा हामिद, हिंदुस्तान की सरजमीं को किया नमन-देखें तस्वीरें

06:07 PM Dec 18, 2018 |

मुंबई/अटारी (उत्तम हिन्दू न्यूज): पाकिस्तान की जेल में करीब छह साल बिता चुके मुंबई के हामिद अंसारी आज वतन लौट आए हैं। अटारी-वाघा के रास्ते ही जैसे ही वह भारत की सरजमीं पर पहुंचे सीमा के इस पार खड़े परिजन भावुक हो गए। हामिद ने परिजनों के साथ सरजमीं को घुटनों के बल झुककर नमन किया। एक पश्तून लड़की से ऑनलाइन बातचीत के बाद उससे मिलने के लिए हामिद पाकिस्तान गए थे। फिर उनके लापता होने की खबर आई, उनके परिवार के लिए यह कठिन परीक्षा का समय रहा। 12 नवंबर 2012 को अंसारी ने पाकिस्तान के पेशावर जाने के लिए जलालाबाद में अफगानिस्तान सीमा पार की, जहां पाकिस्तानी खुफिया अधिकारियों ने उन्हें पकड़ लिया। बाद में एक सैन्य अदालत ने उन्हें तीन साल के लिए जेल भेज दिया। पाकिस्तान की जेल में करीब छह साल बिताने के बाद हामिद आज लौट आए। हालांकि पाकिस्तान ने पेशे से इंजीनियर अंसारी पर भारतीय जासूस होने और देश में अवैध तरीके से प्रवेश करने सहित फर्जी दस्तावेजों के इस्तेमाल और देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने का आरोप लगाया था। 

उधर, पाकिस्तान-इंडिया पीपुल्स फोरम फॉर पीस अंड डेमोक्रेसी (पीआईपीएफपीडी) के महासचिव जतिन देसाई ने बताया, हां, यह एक बहुत अच्छी खबर है। मुंबई भाजपा के एक्टिविस्ट व पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े ने अंसारी के परिवार की काफी सहायता की है। हामिद वतन वापसी में अहम भूमिका निभाने वाले पत्रकार देसाई के अलावा मां, पिता और भाई भी उनकी अगवानी के लिए इस दौरान मौजूद रहे। हामिद की मां फौजिया एक कॉलेज की उप प्रधानाचार्य हैं। हामिद को बचाने की लड़ाई लडऩे के लिए उन्हें अपना पुश्तैनी घर बेचकर दिल्ली आना पड़ा ताकि करीब हर हफ्ते पाकिस्तानी उच्चायोग जाकर बेटे के केस के लिए याचना कर सकें।