भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहा ने केंद्र सरकार का फूंका पुतला

तरनतारन/विवेक गुप्ता  
भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहा के झंडे नीचे दोंदीया वाले पुल के ऊपर केंद्र की मोदी सरकार का पुतला  फूंका गया और डीजल और पैट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इस मौके पर किसानों के  समूह को संबोधित करते हुए जिला प्रधान जसबीर सिंह गंडीविंड और प्रेस सचिव जगवीर सिंह बब्बू ने कहा कि एक तरफ देश भर के किसान दिल्ली की सीमाओं पर तकरीबन 3 महीनों से संघर्ष कर रहे हैं और तीनों काले कानून सरकार की ओर से रद्द नहीं किए जा रहे। केंद्र सरकार बड़े पूंजीपतियों और कार्पोरेट घरानों की रखेल बन चुकी है और किसानों की आमदनी पूंजीपतियों की तजोरियों में बंद करने के लिए उत्सुक है। दूसरी ओर मोदी सरकार की ओर से आए दिन पैट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि कर रही है जिससे देश के हर वर्ग की कमर तोड़ दी है। 
इस अवसर पर सविंदर सिंह दोंदे, मुख्तार सिंह दोंदे, सरपंच इंद्रपाल सिंह झब्बाल, बाबा बलजिंदर सिंह काला झब्बाल, जसबीर सिंह चीमा, मुख्तार सिंह चीमा, लखा सिंह दोंदे, बलजीत सिंह पटवारी गांडीविंद, भूपिंदर सिंह दोंदे, संतोख सिंह फौजी, सुखराज सिंह, गुरबाज सिंह, निशान सिंह, मनजिंदर सिंह, पलविंदर सिंह आदि के इलावा बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।