भारत की 21 वीं सदी में महत्वपूर्ण भूमिका होगी: कोविंद

प्राग (उत्तम हिन्दू न्यूज): राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि 21वीं सदी में भारत की काफी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। कोविंद ने चेक गणराज्य की राजधानी प्राग में गुरुवार शाम भारतीय समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा, “आप जहां भी रह रहे हैं आपको इस भूमिका को महसूस करेंगे। आप उभरते भारत का प्रभाव महसूस करेंगे।”

काेविंद यूरोपीय दौरे के अपने अंतिम पड़ाव पर प्राग पहुंचे हैं। वह भारत के पांचवे राष्ट्रपति हैं जो चेक गणराज्य की यात्रा पर आये हैं। उनसे पहले पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने 1996 में यहां का दौरा किया था। उन्होंने ट्विटर पर कहा, “ नेताजी सुभाष चंद्र बोस प्राग आये थे और उन्होंने कुछ समय यहां बिताया था। मातृभूमि की आजादी के लिए उन्होंने यहां 1934 में भारत- चेक संघ की स्थापना की थी। ”

राष्ट्रपति ने कहा कि थॉमस बाटा ने यहां जूता कंपनी स्थापित की थी जो दुनिया के अनेक देशों तक फैली। बाटा भारतीय जनमानस में ऐसी रची-बसी है कि वे इसे अपनी ही कंपनी समझते हैं। भारत-चेक सिनोफोनीट्टा के संचालक कोलकाता में जन्मे देवाशीष चौधरी ने भारतीय समुदाय की ओर से राष्ट्रपति के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में विशेष संगीत पेश किये। चेक के संगीतकारों ने इस मौके पर भारतीय राष्ट्र गान की धुन बजायी। कार्यक्रम में किशोर कुमार के गाये हिन्दी फिल्मी गीत “पल पल दिल के पास तुम रहती हो’’ काे भी प्रस्तुत किया गया।

Related Stories: